यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर फिर से हुआ भूधंसाव

0
51

उत्तरकाशी : यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर राना चट्टी के पास शुक्रवार को फिर से भूधंसाव हो गया, जिसके कारण यहां बड़े वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध हो गई है। आवाजाही अवरुद्ध होने से जानकी चट्टी की ओर करीब 300 से अधिक बस फंस गई हैं।

राजमार्ग पर जाम की स्थिति बनी

बड़कोट की उपजिलाधिकारी शालिनी नेगी ने कहा की गुरुवार को मार्ग खुलने के बाद अत्यधिक वाहनों की आवाजाही होने के कारण राना चट्टी के पास फिर से भूधंसाव हुआ है। जिसके कारण बड़े वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। इससे राजमार्ग पर जाम की स्थिति बनी हुई है।

गुरुवार की शाम को 25 घंटे बाद राजमार्ग सुचारू हो पाया था

यमुनोत्री धाम से 25 किलोमीटर पहले रानाचट्टी के पास बुधवार की शाम बारिश से हाईवे का 15 मीटर हिस्सा धंस गया था। राजमार्ग गुरुवार की शाम को 25 घंटे बाद सुचारू हो पाया था।

यात्रा मार्ग पर फंसे दस हजार से अधिक श्रद्धालु हुए थे रवाना

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण व लोक निर्माण विभाग की टीम बुधवार की रात से राजमार्ग को खोलने में युद्ध स्तर पर जुटी थी। राजमार्ग पर दौरान बड़कोट से जानकी चट्टी तक जगह-जगह दस हजार से अधिक यात्री फंसे हुए थे।

ऋषिकेश में चारधाम के लिए आफलाइन पंजीकरण तीसरे दिन भी बंद

चारधामों में श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ को नियंत्रित करने के लिए शासन की ओर से बीते बुधवार को सभी धामों के आफलाइन पंजीकरण पर रोक लगा दी गई थी। गुरुवार के बाद शुक्रवार को भी पंजीकरण कार्य बंद रहा।

हेमकुंड के लिए आनलाइन-आफलाइन दोनों पंजीकरण खुले

हालांकि श्री हेमकुंड धाम के लिए आनलाइन और आफलाइन दोनों पंजीकरण खुले रखे गए हैं। उप जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि शासन के अग्रिम आदेश तक आफलाइन पंजीकरण बंद किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here