कपूरथला पुलिस ने गैंगस्टर मोनू ढपई सहित छह को को गिरफ्तार जो हत्या और लूट के मामलो में थे शामिल

0
367

कपूरथला(गौरव मढिया )कपूरथला पुलिस ने दोआबा क्षेत्र में लूटपाट व् कत्ल की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह के 6 सदस्यों को काबू कर दो अहम मामले समझाने का दावा किया है।इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए एसएसपी कपूरथला हरकमल प्रीत सिंह खख ने बताया कि 20 नवम्बर को गांव इब्बन के नजदीक सड़क निर्माण कार्य के सर्वेयर की हत्या के मामले के साथ-साथ सुल्तानपुर लोधी के खालसा सुपर स्टोर पर गन पॉइंट पर हुई लूट के मामले के सभी आरोपियों को काबू कर लिया गया है।पुलिस ने दोनों अपराधों के मास्टरमाइंड मोनू और उसके आपराधिक गिरोह के सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है,जिन्होंने कुछ दिन पहले इब्न गांव में एक सर्वेक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी थी और उसकी बलेरो कार छीन ली थी।गिरफ्तार आरोपियों की पहचान कपूरथला के ढपई गांव के हरकिशन उर्फ मोनू,शाहकोट के बहमनिया गांव के रणजीत सिंह उर्फ जीतू,शाहकोट के सैदपुर के गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी और शाहकोट के बहमनिया गांव के रूपचंद उर्फ काका के रूप में हुई है।

– सर्वेयर की हत्या की गुत्थी के साथ साथ सुल्तानपुर लोधी में खालसा सुपर स्टोर में हुई गन पॉइंट पर लूट को भी सुलझाने का जिला पुलिस कप्तान का दावा
– मोनू ढपई पर दोआबा के कई थानों में है मामले दर्ज
-आरोपियों से 02 पिस्टल(.32 बोर),04 मैगजीन और 16 जिंदा गोला-बारूद बरामद

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक(एसएसपी)हरकमलप्रीत सिंह खख ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि 20 नवंबर को पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ हमलावरों ने गांव कोट धरम चंद, तरनतारन के सर्वेक्षक बलविंदर सिंह पर हमला किया है और उसका बोलेरो (PB46-AG-१७७७) छीन ली थी।एसएसपी ने कहा कि पुलिस की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और जांच शुरू की थी।खख ने कहा कि आरोपी ने सर्वेयर बलविंदर सिंह को अपनी कार की चाबियां सौंपने को कहा और जब उसने मना किया तो आरोपी ने पीड़ित पर तीन गोलियां चलाईं और उस की गाड़ी को छीन लिया और मौके से फरार हो गए थे।एसएसपी ने बताया कि मृतक बलविंदर सिंह के भाई गुरविंदर सिंह के बयान पर सदर थाना कपूरथला में धारा 302, 379-बी व 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।एसएसपी ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए डीएसपी सुल्तानपुर लोधी राजेश कक्कड़ और एसएचओ सुल्तानपुर लोधी,सब इंस्पेक्टर हरजीत सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीमों का गठन किया गया था।टीम को बड़ी सफलता तब मिली जब 27-11-2021 को मच्छीजोआ थाना सुल्तानपुर लोधी निवासी मेजर सिंह पुत्र खुशवंत सिंह ने अपना बयान दर्ज कराया कि वह अपनी दुकान सुपर स्टोर पुडा कॉलोनी सुल्तानपुर लोधी पर बैठा था,उसी समय 04 लोग वहां एक सफेद बलेरो कार में आये जिसमें से 03 लोग भारी मात्रा में हथियारों के साथ अर्बन एस्टेट सुल्तानपुर लोधी स्थित उसके खालसा स्टोर में घुस गए।एक लुटेरा चलने में कठिनाई से दुकान के बाहर खड़ा था।उन्होंने पीड़िता को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी और उसकी दुकान से 30,000/- रुपये लूटकर एक बलेरो कार में बैठकर भाग गए।मामला नंबर 306,दिनांक 27-11-2021,धारा 379-बी और ‪25-54-59‬ आर्म्स एक्ट के तहत सुल्तानपुर लोधी पुलिस स्टेशन कपूरथला में मामला दर्ज किया गया था।खख ने बताया कि पुलिस पार्टी ने 04-12-2021 को खालसा सुपर स्टोर सुल्तानपुर लोधी के गांव नसीरेवाल के पास एक खाली मकान से घटना में शामिल चार लुटेरों को गिरफ्तार कर सफलता हासिल की और एक लुटेरा फर्श पर लेटा हुआ था जब पुलिस पार्टी ने सीढ़ियां चढ़कर उसे गिरफ्तार करना शुरू किया।उसने पुलिस पार्टी को देखा और भागने लगा।पुलिस ने उसे पकड़ने का प्रयास किया तो वह घर की छत से कूद गया,जिससे उसका दाहिना पैर गंभीर रूप से घायल हो गया।छापेमारी के दौरान पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 02 देसी पिस्तौल(32 बोर),04 मैगजीन और 16 जिंदा कारतूस बरामद किया है।प्रारंभिक पूछताछ में एसएसपी ने बताया कि हरकृष्ण उर्फ मोनू धपाई व उसके साथियों ने अपराध स्वीकार कर लिया और पुलिस को बताया था कि उसने 20-11-2021 को सदर थाना के ग्राम ढपई में कार्यरत एक सर्वेयर की गोली मारकर हत्या कर दी थी।लुटेरों ने दावा किया कि उन्होंने सुल्तानपुर लोधी में खालसा सुपर स्टोर को लूट लिया था,और ब्लेरो कार में सवार होकर हजूर साहिब भाग गए।इसी दौरान वाहन एक टिपर से टकरा गया और बलेरो वाहन को गंभीर क्षति होने के कारण वे उसे झांसी बाईपास के पास छोड़ कर भाग गए थे।हादसे में रणजीत सिंह जीतू का बायां हाथ घायल हो गया और वह पंजाब लौट आया।वह फिर से वाहन को छीनने की कोशिश कर रहा थे लेकिन पुलिस पार्टी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया गिरफ्तारी के दौरान लगी चोटों के कारण हरकृष्ण सिंह को इलाज के लिए सिविल अस्पताल सुल्तानपुर लोधी में भर्ती कराया गया था।एसएसपी ने बताया कि हरकृष्ण सिंह उर्फ मोनू ढपई कुख्यात अपराधी था और कई डकैतियों और हत्याओं में शामिल था।उसके खिलाफ विभिन्न थानों में दर्जनों आपराधिक मामले दर्ज हैं।वह ड्रग्स का कारोबार भी करता रहा है।उसने स्वीकार किया कि उसने दोनों पिस्टल यूपी से 40,000/-/40,000 रुपये में खरीदी थी।उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आरोपी को स्थानीय मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा और पुलिस रिमांड प्राप्त करने के बाद मामले की जांच की जाएगी,जिससे और खुलासे होने की संभावना है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here