अगर ग़ालिब दारू पीकर मर गया तो मैं क्यों नहीं ?’ राजेश खन्ना स्टारडम को संभाल नहीं पाए और अकेले पड़ गए थे

0
400

होशियारपुर। फ़िल्मी जगत। हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना को जैसा स्टारडम मिला, वैसा शायद किसी दूसरे स्टार को नसीब नहीं हुआ। एक दौर में राजेश खन्ना की लोकप्रियता का आलम यह था कि उनके घर के बाहर दिन-रात हजारों की तादाद में प्रशंसक डटे रहते थे। ड्राइंग रूम गुलदस्तों से पड़ा रहता था। उनके चाहने वाले उन्हें खून से खत लिखते थे और लड़कियां काका की गाड़ी से उड़ती धूल से मांग भर लिया करती थीं।

हालांकि खुद राजेश खन्ना अपने स्टारडम को संभाल नहीं पाए और एक वक्त ऐसा आया जब वे बिल्कुल अकेले पड़ गए थे। इस अकेलेपन की दो वजहें थीं। एक तो निजी जिंदगी में हलचल और दूसरा करियर के फ्रंट पर नाकामी। काका जब अपने करियर के पीक पर थे तो उनके बंगले में रात-रात भर महफिल जमती थी। पीने-पिलाने का दौर सुबह तक चलता था और बाद में यही उनकी जिंदगी पर भारी पड़ा।
गालिब दारू पीकर मर गए तो मेरा क्या है? राजेश खन्ना को जब कैंसर का पता चला तो वह बेहद डर गए। परिवार भी काका की बीमारी से सकते में था। वरिष्ठ पत्रकार और लेखक यासिर उस्मान अपनी किताब में फिल्म पत्रकार अली पीटर जॉन के हवाले से लिखते हैं कि काका उनसे कहा करते थे ‘अगर ग़ालिब दारू पीकर मर गया तो मैं क्यों नहीं?’ यह राजेश खन्ना की जिंदगी का ऐसा दौर था जब शराब का शौक उन पर भारी पड़ने लगा था। यूं तो काका ने आखिरी वक्त में शराब पूरी तरह छोड़ दी थी, लेकिन उनका लिवर लगभग खत्म हो गया था।

काका नहीं चाहते थे किसी को बीमारी के बारे में पता चले: बाद के दिनों में राजेश खन्ना ने पूरी तरह बिस्तर पकड़ लिया। उस्मान लिखते हैं कि राजेश खन्ना नहीं चाहते थे कि उनकी बीमारी के बारे में करीबी दोस्तों को छोड़कर और किसी को पता लगे। उनका शरीर सिर्फ हड्डियों का ढांचा भर रह गया था। यासिर उस्मान अपनी किताब में इसी दौर का एक किस्सा साझा करते हुए लिखते हैं कि एक पार्टी में सलीम खान ने राजेश खन्ना को देखा तो हैरान रह गए।

सलीम खान इंतजार करते रहे, नहीं मिले काका: तब सलीम खान अपने पनवेल के फार्म हाउस पर चले गए थे और मुंबई कम ही आते थे। सलीम को लगा कि राजेश खन्ना से मिलकर उनका हाल चाल लेना चाहिए। वे पनवेल नहीं गए और मुंबई ही रुक गए। राजेश खन्ना से मिलने पहुंचे और उनके सहयोगी से कहा कि काका से कह दें कि सलीम साहब मिलना चाहते हैं। राजेश खन्ना ने पूछा क्यों मिलना चाहते हैं? उनका मन शंकाओं से भर गया और सलीम खान से मिलने से साफ इंकार कर दिया।

चर्चित अभिनेता प्रेम चोपड़ा ने भी काका के इसी दौर का एक किस्सा बीबीसी को दिए अपने इंटरव्यू में साझा किया था। बकौल प्रेम चोपड़ा उनकी राजेश खन्ना से एक पार्टी में मुलाकात हुई। दोस्त के नाते गले लगाया लेकिन काका ने कोई खास प्रतिक्रिया नहीं दी। प्रेम चोपड़ा, राजेश खन्ना को ऐसी हालत में देखकर बेहद दुखी हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here