किसानों के जख्मों पर नमक छिड़का है पंजाब की चन्नी सरकार ने पेट्रोल के रेट घटाकर– वीर प्रताप राणा

0
446

होशियारपुर। रविंदर। जारी एक प्रेस बयान में प्राकृतिक वातावरण ऐवं सामाजिक वातावरण प्रेमी श्री वीर प्रताप राणा ने पंजाब सरकार द्वारा घटाएं गये पेट्रोल एवं डीजल के रेटों में अंतर को किसान विरोधी बताया। वीर प्रताप राणा ने आज पंजाब में चन्नी  सरकार द्वारा जो पेट्रोल 10 एवं डीजल 5 लीटर घटाया गया है वह दर्शाता है कि पंजाब सरकार किसानों गरीबों की नहीं यह सरकार सरमायेदारो की पहरेदार है।
जिस तरह से पेट्रोल के रेट 10 और डीजल के रेट 5 घटाए गए हैं यह सरासर किसान एवं गरीब के साथ अन्याय है क्योंकि डीज़ल किसान ने खेतों में ट्रैक्टर पर जेनरेटर पर एवम गरीब ने बसों में सफर करके माल ढुलाई में ट्रकों में बरतना है पर पंजाब की कांग्रेस चन्नी सरकार ने सिर्फ पेट्रोल पर जिसे ज्यादातर बड़ी अमीर कारों वाले ही बरतते हैं को कम किया, वास्तव में पेट्रोल के बदले अगर डीज़ल ₹15 से ₹ 20 कम किया जाता तो यह पंजाब के कर्ज में डूबे किसान एवम गरीबों के हित में होता। पर किसान आंदोलनों में प्रियंका गांधी राहुल गाँधी कांग्रेस के तमाम नेताओं द्वारा समर्थन देना एक ड्रामा है अगर कांग्रेस पार्टी किसान हितैषी है तो तुरंत डीजल के रेट पंजाब में किसान हित को ध्यान में रखते हुए और 10 से 15 कम कीये जाएं यह किसान हित में गरीव हित में होगा। इसी तरह वीर प्रताप राणा ने पंजाब सरकार से मांग की है कि डीजल और पेट्रोल के घटे रेट का फायदा गरीब जनता के आखिरी पायदान पर बैठे इंसान को मिलना चाहिए, जैसी की बसों के किरायों में माल ढुलाई में तुरंत घटे हुए रेटों का फायदा पहुँचाया जाए, यह जिम्मेवारी सरकार को लेनी ज़रूरी है।
वीर प्रताप राणा ने चन्नी सरकार से बिनती की है कि एक आप आपसी कलह से बाहर निकलकर पंजाब की जनता की सेवा में जुटे, क्योंकि पिछले साढे 4 साल से आप कांग्रेस की अंदरूनी कलह में ही उलझे हुए हों करोना महामारी का जनता को आपने किसी प्रकार का कोई सहयोग नहीं किया ना ही लोगों की कोई मदद की आज जनता जो कुछ भी खड़ी है वह अपनी मेहनत द्वारा ही खड़ी है पर आपकी सरकार किसानों और गरीबों का सिर्फ खून चूस रही है, आने वाले विधानसभा चुनावों में आपको इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा क्योंकि अब जनता समझदार भी है और आपके लिए गए पिछले 4.5 सालों के फैसलों से त्रस्त भी।
कृप्या करके आप कांग्रेस के नेताओं को आलाकमान को खुश करने की बजाय पंजाब के किसान एवं जनता को डीजल के रेट और कम करके खुश करने की कृपा करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here