मोगा पुलिस ने अपराधी को पुलिस हिरासत से भगाने के लिए गैंगस्टरों की कोशिश को किया नाकाम

0
234

चण्डीगढ़ /मोगा : पंजाब पुलिस द्वारा सोमवार को मोगा के ज़िला अदालती परिसर के बाहर से एक अपराधी को पुलिस हिरासत से भगाने की कोशिश करने वाले दो व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया गया है। ज़िक्रयोग्य है कि मोगा पुलिस ने मोगा के हरजिन्दर सिंह उर्फ राजू को पेशी के लिए अदालत में पेश करना था।
गिरफ़्तार किये गए व्यक्तियों की पहचान अमनदीप सिंह उर्फ जज्जी (24) निवासी मोगा और जसप्रीत सिंह उर्फ प्रीत (31) निवासी फरीदकोट के तौर पर हुई है। पुलिस ने इनके कब्ज़े से एक .32 बोर का रिवॉल्वर और 6 जींदा कारतूस सहित एक मोटरसाईकल भी बरामद की है।
विवरण साझा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मोगा एस.एस. मंड ने बताया कि विश्वसनीय जानकारी मिलने के उपरांत सीआईए मोगा की पुलिस की टीमों ने दोनों अपराधियों को पुलिस हिरासत से अपराधी को भगाने से पहले ही गिरफ़्तार करने में सफलता हासिल की।
एसएसपी ने बताया कि गिरफ़्तार किये गए अपराधियों ने खुलासा किया है कि फरीदकोट के जसप्रीत सिंह उर्फ जस्सी, जोकि इस समय फरीदकोट जेल में है, ने उनको हरजिन्दर को पुलिस हिरासत से भगाने में मदद करने का काम सौंपा था। एसएसपी ने आगे बताया कि वे सभी गैंगस्टर सतीन्द्र बराड़ उर्फ गोल्डी बराड़ के करीबी हैं जो इस समय कैनेडा में रह रहा है। उन्होंने आगे बताया कि सभी अपराधियों के विरुद्ध पहले ही विभिन्न आपराधिक मामले दर्ज हैं।
एसएसपी मंड ने बताया कि जसप्रीत उर्फ प्रीत के पृष्ठभूमि की जांच की जा रही है जबकि आगे की जांच के लिए हरजिन्दर और जसप्रीत उर्फ जस्सी का प्रोडक्शन वारंट लिया जायेगा।
बताने योग्य है कि थाना सिटी मोगा में भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी, आर्म्ज़ एक्ट की धारा 25(6) और 27 अधीन एफआईआर नंबर 200 दिनांक 15.11.2021 को दर्ज की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here