करवाचौथ पर पति की करंट से मौत: अस्पताल से मृत घोषित किया तो सांसें चलने की आस में मिट्टी व गोबर के ढेर में दबाए रखा

0
185

 

सिरसा: कालांवाली (सिरसा) में जिसकी लंबी आयु के लिए पत्नी ने करवाचौथ पर व्रत रखा था। वह करवाचौथ के दिन ही उनकी आंखों के सामने दम तोड़ गया। पति को मृत देखते हुए पत्नी की तबीयत खराब हो गई, लेकिन व्रत की बात कहते हुए पत्नी ने दवाई नहीं ली।

रविवार सुबह शहर के वार्ड नंबर 5 की ताऊ देवीलाल पार्क वाली गली के निवासी जगजीत सिंह जैसे ही नहाकर आया और गीला तौलिया लोहे के तार पर सूखने के लिए डाला तो करंट लग गया। इस दौरान जगजीत सिंह को बचाते समय उसके माता-पिता और पत्नी को भी करंट का झटका लगा, लेकिन तार टूटने के कारण गिरने से वह बच गए। जबकि जगजीत सिंह जग्गी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद परिवार के सदस्य उसे तुरंत दो अस्पताल लेकर गए। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

जगजीत सिंह जग्गी को निजी अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा मृत घोषित करने के बाद परिजन उसे घर वापस ले आए। परिजनों ने मोहल्ले के लोगों के कहने पर जिंदा होने की आस पर अग्रवाल पीरखाना के पीछे खुली जगह पर शव को मिट्टी में करीब दो घंटे तक दबाए रखा और देसी घी से मालिश की।

 

इस दौरान चिकित्सकों को बुलाकर मौके पर जांच करवाई और ऑक्सीजन भी दी। लेकिन जगजीत सिंह जग्गी के शरीर में कोई हलचल न होने के बाद उन्होंने मिट्टी बारिश के कारण गीली होने की बात कहते हुए वहां से निकालकर दूसरी जगह गोबर में दबा दिया।

कई घंटों तक दबाने के बाद शरीर में हलचल होने की बात कहते हुए सिरसा के निजी अस्पताल में ले गए। जहां पर भी चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद शाम को करीब साढे़ 3 बजे बिना पुलिस कार्रवाई किए गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया।

करंट लगने से युवक की मौत होने के मामले संबंधित कोई भी शिकायत नहीं आई है।
– वजीर, एसआई, कालांवाली थाना

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here