रयात बाहरा कॉलेज ऑफ़ लॉ में नेशनल मूट कोर्ट मुक़ाबले करवाए गए

0
322

होशियारपुर। रयात बाहरा कॉलेज ऑफ़ लॉ में नेशनल मूट कोर्ट मुक़ाबले करवाए गए जिस में देश के बड़े लॉ कॉलेजों के छात्र -छात्राओं की टीमों ने हिस्सा लिया। जिस में गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर , पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ , लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी , चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ,उत्तरांचल यूनिवर्सिटी – लॉ कॉलेज देहरादून आदि शामिल थे।

– जिला सेशन न्यायधीश दिलबाग सिंह और सीजेएम अपराजिता जोशी ने छात्रों को दिए जरूरी टिप्स

इस मौके पर कॉलेज प्रिंसिपल डॉ आर एन सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मूट कोर्ट एक काल्पनिक अदालत की प्रतिकृति होती है, जहां विधि के छात्रों को अदालती कार्यवाही और वाद-विवाद का अभ्यास करने का मौका मिलता है। उन्होंने बताया कि छात्रों को शिक्षकों द्वारा किसी विशेष वाद या विषय को चुनकर किया जाता है, और फिर इसी वाद/विषय में वाद-विवाद होता है, जिसमें छात्र अपने-अपने मत को प्रस्तुत करते हैं। इसलिए रयात बाहरा कॉलेज ऑफ़ लॉ में नेशनल मूट कोर्ट मुक़ाबले करवाए गए। इस अवसर पर जिला सेशन न्यायधीश माननीय श्री दिलबाग सिंह जोहल और सीजेएम श्रीमती अपराजिता जोशी ने विशेष तौर शिरकत की। इस मौके पर कैंपस डायरेक्टर डॉ चंद्र मोहन ने आये हुए मेहमानों का स्वागत किया। इस मौके पर जिला सेशन न्यायधीश श्री दिलबाग सिंह जोहल ने बताया कि मूट कोर्ट के माध्यम से विधि छात्रों को न्यायालय में प्रस्तुत होने का ढंग, अभिवचन का प्रारूप, वादपत्र की विरचना, न्यायालयीय प्रक्रिया, मुकदमों का न्यायालय के समक्ष पेश करने तथा मुकदमों की पैरवी करने की कला का ज्ञान प्राप्त होता है। यह विधि छात्रों को व्यवहारिक ज्ञान देने के आधुनिक तरीकों में से एक है, जो उन्हें एक वास्तविक अदालत के समान काल्पनिक स्थिति में डालते हैं। इस मौके पर मूट कोर्ट मुक़ाबलों में अव्वल रहे छात्रों को माननीय न्यायधीशों ने पुरस्कृत किया। इस प्रोग्राम के को-ओडीनेटर सहायक प्रो सुखप्रीत कौर और प्रो ट्विंकल मेहता थी । अंत में डॉ प्रियंका पुरी ने आये हुए छात्र -छात्राओं व् मेहमानों का धन्यवाद किया। इस मौके पर छात्र -छात्राओं के अलावा कॉलेज का समस्त स्टाफ मौजूद था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here