रयात बाहरा पैरामेडिकल साइंसेज विभाग द्वारा अंतर्राष्टीय महिला दिवस मनाया गया

0
170

 

होशियारपुर। रयात बाहरा मैनेजमेंट कॉलेज के पैरामेडिकल विभाग द्वारा अंतर्राष्टीय महिला दिवस मनाया गया जिस में विभाग की बीएससी ( एम्एलएस ) और बीएससी ( ओटीटी ) की छात्राओं ने हिस्सा लिया। “ अकमप्लिश्मेंट्स ऑफ़ वूमेन इन मेडिकल फ़ील्ड्स ‘ विषय अधीन मनाए गए अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर छात्राओं और अध्यापिकाओं ने अपने -अपने विचार व्यक्त किये। इस मौके मेडिकल क्षेत्र की माहिर ड़ॉ राजिंदर राज ने छात्राओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शुभकामनाएं दी।

– ड़ॉ राजिंदर राज ने छात्राओं को महिलाओं से जुडी उपलब्धियों व् समस्याओं के बारे जानकारी दी

डॉ राजिंदर ने छात्राओं को महिलाओं से जुडी महत्वपूर्ण उपलब्धियों व् समस्याओं के बारे विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने भारत की पहली महिला डॉक्टर डॉ. आनंदीबाई जोशी के बारे छात्राओं को बताया। उन्होंने बताया कि डॉ. आनंदीबाई पश्चिमी चिकित्सा में भारतीय महिला की पहली डिग्री प्राप्त करने वाली थीं। उन्होंने अल्बर्ट एडवर्ड अस्पताल, कोल्हापुर में डॉक्टर के रूप में काम किया, लेकिन उन्होंने टीबी के कारण 22 वर्ष की आयु में जीवन त्याग दिया। इसके अलावा उन्होंने महिलाओं में मासिक धर्म संबंधी विकारों के बारे बताया जिस में डॉ राज ने बताया कि मासिक धर्म आमतौर पर 12 से 15 वर्ष की लड़कियों में शुरू होता है और लगभग 45 से 55 वर्ष की आयु में समाप्त होता है । सामान्य मासिक धर्म चक्र 28 दिनों का होता है, लेकिन यह अवधि हर लड़की के लिए अलग-अलग होती है। इस दौरान होने वाले विभिन्न शारीरिक और भावनात्मक लक्षणों का अनुभव हो सकता है। कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ हरिंदर गिल की अध्यक्षता में विभाग के प्रभारी डॉ सुखमीत बेदी ने छात्राओं को इंटरनेशनल वूमेन डे पर शुभकामनायें दी और बताया कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस , महिला अधिकारों के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करता है और जैसे-जैसे महिलाओं के अधिकारों की दिशा में प्रगति हो रही है, वैसे-वैसे इसका महत्व बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि इस दिन महिलाओं की उपलब्धियों पर उन्हें सम्मानित किया जाता है जो उनके अधिकारों को प्रोत्साहित करता है। डॉ सुखमीत ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत 20वीं सदी की शुरुआत में हुई थी। इस मौके छात्राओं में पोस्टर मेकिंग के मुकाबले करवाए गए। अंत में पोस्टर मुकाबले के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। इस प्रोग्राम को असिस्टेंट प्रो पूजा समियाल , असिस्टेंट प्रो अदिति , असिस्टेंट प्रो साकिब , नवनीत ने को -ओडिनेट किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here