मुक्तसर में राजस्थान फीडर का 60 साल पुराना पुल गिरा

0
41

श्री मुक्तसर साहिब : गांव चक्क गांधा सिंह वाला और झबेलवाली के बीच से गुजरती राजस्थान व सरहिंद फीडर में से राजस्थान फीडर का पुल टूट गया है। पुल मंगलवार की रात को लगभग साढ़े बारह बजे टूटा बताया जाता है। करीब 60 वर्ष पुराने इस पुल के टूटने से कई गांवों का आपस में संपर्क टूट गया है। गनीमत रही कि पुल के टूटने का लोगों को समय पर पता चल गया, नहीं तो पुल से गुजरते समय को कोई जानी नुकसान भी हो सकता था। ग्रामीणों के अनुसार पुल की मियाद पूरी हाे चुकी थी।

मंडी बरीवाला से चक्क गांधा सिंह वाला और झब्बेलवाली गांव को जाने वाली सड़क पर जुड़वां नहरों सरहिंद फीडर और राजस्थान फीडर पर यह पुल बना हुआ है। परंतु रात को करीब साढे 12 बजे राजस्थान नहर का पुल बीच में टूटकर पानी में गिर गया। राजस्थान नहर का पिछले काफी समय से रीलाइनिंग का काम चल रहा था। जिसमें बीते मंगलवार को ही पानी छोड़ा गया था। हालांकि पुल के टूटने का कारण पड़ताल का विषय है, लेकिन बताया जाता है कि रीलाइनिंग के काम के लिए इस पुल के पास मिट्टी डालकर पानी को रोका गया था। अब जब इसमें पानी छोड़ा गया तो नहर की एक बुर्जी दबाव न झेलते हुए नीचे बैठ गई।

इससे पुल टूटकर नहर में गिर गया। उधर, किरती किसान यूनियन के नेता और गांव झबेलवाली के ही निवासी जसविंदर सिंह ने कहा कि इस नहर के आगे चल रहे रीलाइनिंग के काम के दौरान विभाग के रेत और बजरी के बड़े टिप्पर यहां से दिन भर गुजरते रहे हैं। पुल पहले ही खस्ता हालत में था और यह अपनी मियाद भी पूरी कर चुका है। इन टिप्परों के गुजरने के कारण पुल और भी ज्यादा खस्ताहाल हो गया। जिसके चलते ही यह रात को अचानक टूट गया।

राजस्थान फीडर के पुल के टूटने से इसके साथ सटा सरहिंद नहर का पुल भी कमजोर हो गया है। दोनों पुलों का नवनिर्माण करने की जरूरत है। इस पुल के टूटने से मंडी बरीवाला व चक्क गांधा सिंह वाला का गांव झबेलवाली से संपर्क टूट गया है। ग्रामीणों को अपने खेतों में जाने-आने के लिए अब पांच से सात किलोमीटर तक घूमकर जाना-आना करना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here