हिंसा के लिए भारत में अब कोई स्थान नहीं- प्रो. गुरदीप सिंह। 

    0
    157
    होशियारपुर (रुपिंदर) : पूरा विश्व आंतकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए एक जुट हो रहा है और आंतकवाद के पनाहगार पाक्स्तिान व शुभचिंतक चीन का चेहरा विश्व के सामने बेनकाब हो चुका है। ऐसे में कुछ तथाकथित नेताओं का पाक प्यार भारत की जनता के साथ गद्दारी है। उपरोक्त शब्द प्रसिद्ध गकाल गायक प्रो. गुरदीप सिंह ने पुलवामा में आंतकवादी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए इंडियन कल्चरल सोसाईटी म्यूजिक एडं लिटरेचर द्वारा आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए कहे।
    प्रो. गुरदीप सिंह ने कहा कि भारत एक शांति प्रिय देश है और हिंसा के लिए इसमेंं कोई स्थान नहीं है, पर बात देश की आन की हो तो संगीत के सुर बजाने वाले हाथ भी हथियार उठाने से गुरेका नहीं करेंगे। उन्होने कहा कि देशहित के लिए सरकार कोई भी फैसला लें, तो इंडियन कल्चरल सोसाईटी उस फैसले में सरकार का सर्मथन करेगीं।
    इस मौके पर सोसाईटी के प्रधान कुलविंदर जंडा ने कहा कि सोसाईटी ने फैसला लिया है कि लोगों को देश की मिट्टी के साथ जोडऩे के लिए मां सरस्वती की पूजा के साथ भारत माता पूजन का आयोजन भी किया जाएगा और सोसाईटी के हर कार्यक्रम की शुरुआत भारत को सर्मपित गीत से की जाएगी। इस मौके पर सोसाईटी के सभी सदस्यों ने पुलवामा में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की।
    इस मौके पर सोसाईटी के सचिव दर्शन सिंह, डॉ धर्मपाल साहिल, रंजीव तलवाड़, मोहन लाल कलसी, मेजर रघवीर सिंह, मनीष चड्डा, सरबजीत भोपला, डॉ विजय शर्मा, तरलोक कुमार, अजीत सिंह जब्बल, मलकीत सिंह जौहल, प्रो. गुरपाल सिंह सहोता व अन्य सदस्य भी उपस्थित थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here