हर वीरवार दिव्यांगजन का सत्कार अभियान ने दिव्यांगजन में भरी नई ऊर्जा: डिप्टी कमिश्नर

    0
    133
    होशियारपुर(रुपिंदर ) डिप्टी कमिश्नर श्रीमती ईशा कालिया ने बताया कि वर्ष 2018 में दिव्यांगजन व बुजुर्गो के लिए विशेष तौर पर जिला प्रशासन की ओर से प्रयास किया गया। इस प्रयास से न सिर्फ उनको फायदा पहुंचा बल्कि सामाजिक कार्यो में उनकी सहभागिता भी बढ़ी है।
    डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि वर्ष 2018 में मिशन तंदुरु स्त पंजाब के अंतर्गत जिला प्रशासन ने एन.जी.ओज. के सहयोग से हर वीरवार दिव्यांगजन का सत्कार अभियान शुरु  किया गया, जिसके अंतर्गत क्रमवार हर वीरवार जिले के एक सिविल अस्पताल में दिव्यांगजन की सुविधा के लिए कैंप लगाया गया। उन्होंने कहा कि कैंप के माध्यम से दिव्यांगजन को अलग-अलग सुविधाएं मुहैया करवाई गई, ताकि उनको किसी किस्म की दिक्त त का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि हर वीरवार दिव्यांगजन का सत्कार अभियान के अंतर्गत लगाए जा रहे इन कैंपों के दौरान दिव्यांगजन को जागरु क करने के लिए वोटों संबंधी भी विशेष काउंटर लगाए गए, ताकि यदि कोई भी दिव्यांग व्यक्ति  वोट बनाने से रहता है, तो वह अपनी वोट के लिए अप्लाई भी कर सके।
    डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि हर वीरवार दिव्यांगजन का सत्कार कैंप के अंतर्गत अभी तक जिले के विभिन्न सिविल अस्पतालों में 14 कैंप लगाए गए, जिसमें 565 दिव्यांगजन सर्टिफिकेट, 287 दिव्यांगजन पहचान पत्र, 683 यू.डी.आई.डी. व 312 पेंशन संबंधी फार्म भरे गए। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजन की सुविधा के लिए शुरु  किया गया यह अभियान जारी रहेगा। श्रीमती ईशा कालिया ने बताया जिले में 120133 लाभार्थी बुढ़ापा पेंशन व अन्य वित्तिय सहायता का लाभ ले रहे हैं। वर्ष 2018 के दौरान जनवरी 2018 से दिसंबर 2018 तक 92,13,77,250 रु पये लाभार्थियों को वितरित किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि 1 अक्टूबर 2018 को अंतर्राष्ट्रीय सीनियर सिटीजन डे मनाया गया जिसमें जिले के वृद्ध आश्रमों में रह रहे बुजुर्गों व वरिष्ठ नागरिकों को शामिल किया गया। इस दौरान बुजुर्गों को व उनकी भलाई के लिए काम कर रही संस्थाओं को सम्मानित किया गया।
    डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि 3 दिसंबर 2018को  अंतर्राष्ट्रीय   दिव्यांगजन दिवस मनाया गया, जिसमें सरकारी व गैर-सरकारी स्कूलों के दिव्यांग बच्चों ने भाग लिया। सांस्कृतिक कार्यक्रम करने वाले दिव्यांग बच्चों व खेल में नाम कमाने वालों के अलावा दिव्यांगों के लिए काम कर रही संस्थाओं को भी सम्मानित किया गया। इसी तरह 14 दिसंबर 2018 को प्रशासन की ओर से अलिमको की मदद से ए.डी.आई.पी. योजना के अंतर्गत  कैंप लगा कर 197 दिव्यांगजन को उनकी जरु रत के अनुसार उपकरण जैसे कि ट्राई साइकिल, व्हील चेयर, वाकिंग स्टीकस, बनावटी अंग आदि देने संबंधी पहचान की गई। श्रीमती ईशा कालिया ने बताया कि दिव्यांगजन व बुजुर्गों को सुविधा देने के लिए आने वाले समय में और भी प्रयास किए जाएंगे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here