स्पैशल बच्चों का दो दिवसीय राज्यस्तीय कल्चर इवेंट उमंग 27 से होगा शुरू

    0
    227

    होशियारपुर (रुपिंदर ): स्पैशल ओलंपिक्स की तरफ से जगजीत सिंह सचदेवा आशाकिरण स्पैशल स्कूल के सहयोग से चौथा राज्य स्तरीय कल्चरल कंपीटिशन उमंग 2019 पंजाब यूनिर्वसिटी के रीजनल कैंपस स्वामी सर्वानंद गिरी में 27 व 28 अप्रैल को करवाया जाएगा। ये जानकारी आशादीप वेल्फेयर सोसायटी व जेएसएस आशा किरण स्कूल स्टाफ के पदाधिकारियों ने प्रोजेक्ट डायरेक्टर परमजीत सिंह सचदेवा के साथ पत्रकारवार्ता में दी।
    प्रोजेक्ट डायरेक्टर परमजीत सिंह सचदेवा ने बताया कि 27 अप्रैल को कार्यक्रम का उद्घाटन मुबंई के निर्मल बंग सिक्योरिटीज के वाईस चेयरमैन व ज्वाईंट एमडी दलीप बंग करेंगे। उन्होंने बताया कि उमंग इवेंट की शुरूआत 2015 में की गई थी और उसके बाद निरंतर हर वर्ष इस इवेंट को करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया स्पैशल बच्चों में चार प्रकार की डिस्बिल्टी होती है जिनमें से तीन प्रकार की डिस्बिल्टी में तो बच्चें कुछ समय बाद अपने पैरों पर स्वयं खड़े हो सकते है लेकिन मैंटली डिस्बिल्टी में बच्चों को शुरू से लेकर पूरी आयु तक संभालने के लिए सहारे की जरूरत होती है। उन्होंने बताया ऐसे बच्चें खेलों और डांस के माध्यम से बहुत इंज्वाय करते है। उन्होंने बताया कि वल्र्ड में 1968 में स्पैशल ओलंपिक्स खेलें शुरू की गई थी, जबकि पंजाब में ये खेल प्रतियोगिता 1995 में शुरू की गई। उन्होंने बताया पहले इन खेल मुकाबलों के बाद एक दिन बच्चों के कल्चर प्रोग्राम करवाये जाते थे और इनमें बच्चों की रूचि देखते ही बनते थी। जिसके बाद उन्होंने पूरे भारत में स्पैशल स्कूलों व संस्थाओं से पता किया कि स्पैशल बच्चों का कोई कल्चर इवेंट होता है तो उन्होंने पता चला कि कहीं पर भी इन बच्चों के लिए ऐसे इवेंट नहीं करवाया जाता। जिसके बाद 2015 में पंजाब ओलंपिक्स व जेएसएस आशाकिरण स्कूल ने उमंग नाम से पूरे पंजाब के स्पैशल बच्चों के लिए ये एवेंट शुरू किया गया।
    उन्होंने बताया इस बार के उमंग में खास बात ये है कि इसमें यूनीवाईड इवेंट भी रखा गया है। जिसका अर्थ है कि स्पैशल बच्चें और नार्मल बच्चें एक साथ डांस प्रफोमेंस देंगे तांकि उन्हें ये नहीं लगेगा कि वो भी किसी से कम नहीं हैं।
    परमजीत सिंह सचदेवा ने बताया कि उमंग 2019 में पंजाब की 28 टीमों के 350 प्रतियोगी अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने बताया इसमें बच्चों को आयु वर्ग में बांटा है जिसमें अंडर 15 की अलग टीमें हैं और 15 साल से ज्यादा आयु वर्ग की अलग टीमें बनाई गई है। इसके अलावा जिन स्कूलों 50 से अधिक स्टूडेंटस है उन्हें एक ग्रुप में रखा है ओर 50 से कम वालों को दूसरे ग्रुप में रखा है। उन्होंने बताया सभी ग्रुपों लडक़े, लड़कियों के ग्रुप सांग, डांस, सोलो मुकाबलें होंगे। उन्होंने बताया इन प्रतियोगिता के विजेताओं को दो लाख रूपये तक के कैश प्राईस दिये जाते हैं। इसके अलावा आबूदाबी में हुई स्पैशल समर ओलंपिक्स में पंजाब के 13 स्पैशल खिलाडिय़ों व 6 कोचों को भी सम्मानित किया जाएगा। प्रधान मलकीत सिंह मेहरू ने बताया जब से वो इस इवेंट को करवाया रहे है इसके बाद इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले बच्चों में काफी बदलाव देखने को मिलें और वो बहुत लगन व आत्मविश्वास से काम करने लगे हैं। इस दौरान उनके साथ प्रधान मलकीत सिंह मेहरू, मलकीत सिंह सौंध, हरबंस सिंह, राम आसरा, मस्तान सिंह ग्रेवाल, अवतार सिंह तथा प्रिंसीपल शैली शर्मा भी मौजूद थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here