कैसे करें स्ट्रेस फ्री हो परीक्षा की तैयारी ? – डॉ. कुलदीप वालिया

    0
    182

    परीक्षा के दिनों में विद्यार्थियों में तनाव होना स्वाभाविक है| कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रख कर विद्यार्थी न केवल एग्जाम की तैयारी बेहतरीन कर सकते है बल्कि तनाव को भी दूर कर सकते है| शरीर की तरह आपके दिमाग को भी बेहतर काम करने के लिए व्यवस्थित रहना जरूरी है। एक्साम्स के दिनों में दिमाग को तंदरुस्त बनाये रखने के ये टिप्स परीक्षा में विद्यार्थियों की परफॉरमेंस में निखार लाएंगे| इन टिप्स को अपनाने से न सिर्फ आपका दिमाग तेज गति से काम करने लगेगा, बल्कि परीक्षा के लिए किसी भी पाठ को याद रखना आसान हो जाएगा।
    व्यवस्थित एवं शांत स्टडी रूम: एग्जाम की तैयारी घर के एक अलग कमरे में ही करे जहा किताबें नोट बुक्स, स्टेशनरी का जरूरी सामान रखने की पर्याप्त जगह हो| कमरे में पर्याप्त रौशनी होनी चाहिए| पढ़ाई सदैव टेबल और चेयर पर ही करे| ध्यान को बटाने वाली वस्तुए जैसे कंप्यूटर, वीडियो गेम्स, टेलीविज़न, स्टीरियो स्टडी रूम में न रखे| अपने चेयर के सामने वाली दीवार पर एक सकारात्मक शब्दों का नोट लगाए जैसे की ; हार्ड वर्क इस की टू सक्सेस और एफ्फोर्ट्स नेवर गो वेस्ट| एक अच्छा वातावरण मानसिक रूप से मजबूत बनता है और हौसला टूटने नहीं देता|
    सही अनुसूची बनाये : व्यवस्थित पढ़ाई का सबसे अच्छा ढंग है की एक सही टाइम टेबल बनाये और यह तय करे की किस विषय को कितना और कितनी देर पढ़ना है| डेट शीट और टाइम टेबल को अपने स्टडी रूम में लगाए और निरंतर इसका पालन करे| टाइम मैनेजमेंट का यह टिप आत्मविश्वम बढ़ाने में मदद करता है और एग्जाम के अंतिम क्षणों में की जाने वाली क्राम्मिंग से दूर रखता है जो निसंदेह एग्जाम की तैयारी का एक सबसे बुरा तरीका है|
    रविजेन करे : हर विषय की रविजेन करे| फ्लो चार्ट की मदद से रविजेन करे| टॉपिक वाइज वो पॉइंट्स लिखे जो आपको आते है उनमें से वो पॉइंट्स हाईलाइट करे जिन में आप कमजोर है| उनका ज्यादा अभ्यास करे| ग्रुप स्टडीज से भी आप एग्जाम की अच्छी तैयारी कर सकते है |
    पुराने प्रश्न पत्रों का अभ्यास करे : प्रतेयक विषय के बोर्ड के पुराने प्रश्न पत्रों का अभ्यास जरूर करे| ये प्रकिर्या न केवल आपको फाइनल एग्जाम का फॉर्मेट बताएगी बल्कि क्वेश्चन पेपर सोल्वे करते समय समय बद्ध करने में भी सहायता करेगी|
    अपने जबाब बोल कर एक्सप्लेन करे: थ्योरी वाले प्रश्नो का अभ्यास अपने भाई बहन या माता पिता को उत्तर एक्सप्लेन करके करे| इससे आपको हर टॉपिक के कॉन्सेप्ट्स क्लियर होंगे|
    नियमित ब्रेक्स ले : एग्जाम की तैयारी करते समय हर ४५ मिनट बाद रिफ्रेशिंग ब्रेक जरूर ले | एक रिसर्च के मुताबिक हर १५ मिनट बाद मस्तिष्क की एकाग्रता बिगड़ने लगती है| इस एकाग्रता को बनाये रखने और अनुकूल परिणामो के लये ब्रेक्स बहुत फायदेमंद होती है|
    पर्यापत पानी पिए: विशेष कर एग्जाम के दिनों में विद्यार्थियों को पर्यापत पानी पीना चाहिए| इससे दिमाग की नस्से खुश्क नहीं होती और डिहाइड्रेशन का खतरा भी नहीं होता|
    केवल हेल्थी फ़ूड ही खाये: एग्जाम के दिनों में केवल विटामिन्स युक्त नुट्रिशयस फ़ूड ही खाये| अच्छा भोजन एकाग्रता को बनाये रखने में मदद करता है|
    तनाव को ख़त्म करे : एग्जाम के दिनों में तनाव आना स्वाभाविक है परन्तु तनाव को हैंडल करे| रोजाना थोड़ी देर कसरत करे| खुली वायु में घूमें| अपने दोस्तों के साथ कुछ समय जरूर बिताये| खुल कर हसे एवं बातें करे| बहुत फ़्रस्ट्रेशन की स्थिति में कुछ देर किताबो से दूर रहना भी तनाव को दूर करता है|
    अध्यापको के मदद जरूर ले : यदि आपको किसी कांसेप्ट या टॉपिक को लेकर डाउट है तो अपने अध्यापको से संपर्क करने में बिलकुल भी संकोच न करे|
    पूरी नींद ले: एक्साम्स के दिनों में पूरी एकाग्रता बनाये रखने के लिए ८ घंटे की नींद अवशय ले| अच्छी गहरी नींद तंदरुस्त दिमाग की जरूरी औषधि है| देर रात तक न पढ़े| एग्जाम के दिनों में सूर्य उदय से पहले उठे और उसी समय ज्यादा से ज्यादा रविजेन करे |
    एग्जाम से एक दिन पहले ज़रूरी सामान पैक करे: एग्जाम से एक रात पहले अपना रोल नंबर, आइडेंटिटी कार्ड, स्टेशनरी का जरूरी सामान तथा अन्य जरूरी चीजे पैक करे| एग्जाम का समय चेक करे | एग्जाम से सम्बंधित नियम पहले से ही पढ़ कर जाये|
    एग्जाम वाले दिन सुबह जल्दी उठे| ब्रेकफास्ट ज़रूर करे| एग्जामिनेशन सेंटर में एग्जाम स्टार्ट होने से ३० मिनट पहले अवशय पहुंचे और वो ही रास्ता ले जहा ट्रैफिक नहीं होता |
    एग्जाम वाले दिन अपने दोस्तों से कुछ भी डिसकस न करे|
    अपने लक्ष्य को याद रखे | उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सदैव प्रयत्नशील रहें क्योंकि जो प्रयत्न करते है वे सफल जरुर होते है जैसे कोई मेहनत करने वाला गोताखोर गहरे पानी में जाता है और कुछ लेकर ही आता है लेकिन कुछ बेचारें लोग ऐसे भी होते है जो डूबने के भय से किनारे पर ही बैठे रह जाते है और कुछ नहीं पाते है |
    आप किनारे पर बैठे रहने वाले मत बनिए बल्कि लक्ष्य निर्धारित कीजिए और आगे बढिए | आप अपनी क्षमता पर विश्वास रखिए | आप की मेहनत कभी व्यर्थ नहीं जाएगी | इच्छाशक्ति और बताई गयी टिप्स के साथ बोर्ड परीक्षा की तैयारी करने से सफलता आपको जरुर मिलेगी |

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here