राज कपूर से मिलने के लिए बॉर्डर पर आ गए थे पाकिस्तानी सैनिक, साथ में लाए थे ऐसा तोहफा; देखकर भावुक हो गए थे लोग

0
124

होशियारपुर। फ़िल्मी जगत। बॉलीवुड के मशहूर एक्टर राज कपूर ने अपनी फिल्मों और अपने अंदाज से हिंदी सिनेमा में जबरदस्त पहचान बनाई है। राज कपूर अपनी फिल्मों के लिए न केवल भारत में बल्कि रूस, इटली और चीन जैसे देशों में भी बहुत मशहूर थे। विदेशों में भी उनकी फिल्मों को खूब पसंद किया जाता था। हालात ऐसे थे कि राज कपूर का नाम सुनकर पाकिस्तानी सैनिक भी उनसे मिलने के लिए बॉर्डर पर आ गए थे। इतना ही नहीं, वह राज कपूर और बाकी लोगों के लिए अपने साथ मिठाइयां भी लेकर आए थे।

राज कपूर से जुड़ी इस बात का खुलासा उनके असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर काम कर चुके राहुल रवेल ने किया था। राहुल रवेल ने बीबीसी को बताया था कि ‘बॉबी’ फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्होंने राज कपूर को असिस्ट किया था। इस दौरान वह प्रकृति के खूबसूरत सीनों को फिल्माने के लिए कश्मीर गए हुए थे।

राज कपूर के बारे में बात करते हुए बताया गया कि शॉट लेने के दौरान जब वह चौकी से गुजरे तो उनके रास्ते में एक बैरिकेड पड़ा, जहां से आगे जाने के लिए उन्हें मना कर दिया। इसपर राज कपूर ने कहा कि अपने कमांडर को बुलाओ और बोलो कि राज कपूर आए हैं। कमांडर ने वहां पहुंचकर राज कपूर का अभिवादन किया, साथ ही उनकी टीम को भारत-पाकिस्तान सीमा तक ले जाने के लिए दो जीपों की व्यवस्था भी की।
इस बारे में राहुल रवेल ने बताया, “हम बॉर्डर पर पहुंचे और हमारे बारे में पता चलते ही सैनिक बंकर से निकलकर आए। हमें सैनिकों ने दूर पाकिस्तान का बॉर्डर दिखाया। सैनिकों ने बताया कि हमने पाकिस्तान के कुछ सैनिकों को रेडियो पर बताया है कि राज कपूर आए हैं तो वह आपसे मिलने के लिए आ रहे हैं। कुछ ही देर में हमने देखा कि पाकिस्तान की दो गाड़ियां आईं।”

राहुल रवेल ने इस बारे में आगे कहा, “उसमें से सैनिक निकले। वे अपने साथ ताजा जलेबी लेकर आए थे और सबको अपने हाथों से खिला रहे थे। वो मेरे लिए बहुत ही भावुक लम्हा था, जिसे मैं कभी भी नहीं भूलुंगा।” बता दें कि राज कपूर मूल रूप से पेशावर के रहने वाले हैं, जो इस वक्त पाकिस्तान में है। पेशावर में राज कपूर की पुश्तैनी हवेली भी मौजूद है, जिसे वहां की सरकार ने म्यूजियम में तब्दील करने का फैसला किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here