होशियारपुर में पहली बार हुए राइटर्स फेस्टिवल में लेखकों, कवियों और फिल्म इंडस्ट्री की शख्शियतों ने लिया हिस्सा

    0
    121

    होशियारपुर (जनगाथा टाइम्स ) होशियारपुर में करवाए अपनी किस्म के पहले राइटर्स फेस्टिवल दौरान होशियारपुर साहित्यक रंग में रंगा गया। सिट्रस काउंटी छावनी कलां में फेस्टिवल का आगाज पंजाब योजना बोर्ड और सोनालिका इंटरनेशनल ट्रैक्टर्ज लिम के वाइस चेयरमैन अमृत सागर मित्तल और प्रसिद्ध लेखक और पंजाब राज सूचना कमिश्नर खुशवंत सिंह की तरफ से शमां रोशन करके किया गया। इस मौके अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (ज) हरप्रीत सिंह सूदन, अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (विकास) हरबीर सिंह, ‘होशियारपुर लिटरेरी सोसायटी’ की प्रधान सना के. गुप्ता के अलावा अलग -अलग शखशियतें मौजूद थे।
    फेस्टिवल दौरान प्रसिद्ध लेखकों, कवियों, पैनलिस्ट और फिल्म इंडस्ट्री के साथ जुड़ी अहम हस्तियों की तरफ से अलग-अलग मुद्दों पर अहम चर्चा हुई। फेस्टिवल में 7 सैशन हुए और अंतिम सैशन में प्रसिद्ध कवि श्री सुरजीत पात्र के साथ उनकी पुस्तक ‘पंजाब एक कवि की नजर से’ (Punjab through the eyes of a poet) बारे सीनियर पत्रकार निरुपमा दत्त की तरफ से अहम चर्चा की गई। इस मौके भारी संख्या में पहुंचे विद्यार्थियों की तरफ से सवाल भी किये गए, जिनका श्री सुरजीत पात्र की तरफ से बखूबी जवाब दिया गया। सबसे पहले प्रसिद्ध लेखक श्री उपमन्यू चैटर्जी के साथ उनकी पुस्तक (Stories around assassination of Indra Gandhi) बारे स्पीकिंग टाइगर के सह संस्थापक रवि सिंह ने बातचीत की। इस दौरान इस पुस्तक सम्बन्धित अहम घटनाओं को छूआ गया।
    ‘होशियारपुर राइटर्स फेस्टिवल’ मौके सामाजिक रिश्तों सम्बन्धित मशहूर लेखिका श्रीमती सोनाली खुल्लर श्राफ की तरफ से लिखी पुस्तक (Love in the time of affluenza) बारे पैनलिस्ट प्रीति गिल और सना के. गुप्ता की तरफ से बातचीत की गई, जिसमें पारिवारिक रिश्तों की मजबूती बारे चर्चा की गई। इसके बाद पंजाबी सिनेमा बारे डिजीटल की दुनिया में मनोरंजन के भविष्य बारे बालीवुड अभिनेता श्री रणवीर शोरे, एक्स वायआकाम 18 के पूर्व सी.ओ.ओ. राज नायक और ज्योति कमल बीच चर्चा हुई। इस चर्चा में डिजीटल की दुनिया में सिनेमा के भविष्य बारे अहम विचार पेश किये गए। इसके इलावा आज के दौर में मास मीडिया के योगदान सम्बन्धित भी चर्चा की गई।
    फेस्टिवल दौरान मशहूर लेखिका रखशन्दा जलील की नई पुस्तक (But You Don’t look like A Muslim) पर सीनियर पत्रकार निरुपमा दत्त की तरफ से चर्चा की गई। इस पुस्तक में भी अहम मुद्दों को बहुत ही बारीकी के साथ छूआ गया। इसके इलावा पंजाबी सिनेमा बारे प्रसिद्ध डायरेक्टर अनुराग सिंह, अभिनेता गुरप्रीत सिंह घुग्गी, लेखक जतिन्दर मोहर, पूर्व मिस इंडिया और अभिनेत्री नवनीत ढिल्लों और नवलीन लक्खी की तरफ से बातचीत की गई, जिस में पंजाबी सिनेमों के मौजूदा दौर और भविष्य बारे अहम विषयों को छेेड़ा गया। उपरांत ‘होशियारपुर लिटरेरी सोसायटी’ की प्रधान और लेखिका सना के. गुप्ता की पुस्तक (Hands that disobeyed) लांच की गई और इस पुस्तक बारे लेखिका के साथ छठे सैशन दौरान प्रसिद्ध लेखक और पंजाब राज सूचना कमिश्नर खुशवंत सिंह और लेखिका सोनाली खुल्लर श्राफ की तरफ से अहम मुद्दो पर विचार चर्चा की गई। इस पुस्तक की चर्चा दौरान अहम मुद्दों पर बातचीत हुई। उपरांत शाम को महान पंजाबी कवि सुरजीत पात्र की कविता ‘पंजाब एक कवि की नजर से’ संबंधी निरुपमा दत्त ने विचार चर्चा की और पूरी फिजा को साहित्यक रंग में रंग कर ‘पंजाब एक कवि की नजर से’ समाप्त हुआ।
    खुशवंत सिंह ने कहा कि इस फेस्टिवल द्वारा प्रसिद्ध लेखकों, कवियों और फिल्म इंडस्ट्री के साथ जुड़ी अहम हस्तियों की तरफ से अलग-अलग मुद्दों पर अहम विचारों की गई हैं, जो एक सेहतमंद और तंदरुस्त समाज के लिए बहुत जरूरी हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here