होटल रॉयल प्लाजा: नबाब और गांधी ने मामला क्रास बनाने के लिए खुद ही गोली मारी, मामला दर्ज़

    0
    154
    होशियारपुर (जनगाथा टाइम्स ) 3 जनवरी को होशियारपुर-चिंतपूर्णी मार्ग पर स्थित होटल रॉयल प्लाजा में हुए झगड़े में बंटी पक्ष के नबाब हुसैन एवं गांधी को माननीय अदालत से जमानत मिल गई। मगर दूसरी तरफ इस मामले में विशेष जांच टीम ने नबाब एवं गांधी पर पुलिस को झूठी सूचना देने के मामले में पहले दर्ज मामले में आर्म एक्ट के साथ आई.पी.सी. की धारा 193/195/182/120-बी के तहत जुल्म में बढ़ोतरी की कार्रवाई की है। इस संबंधी एस.आई.टी. की रिपोर्ट के अनुसार झगड़े वाले दिन नबाब एवं गांधी ने पुलिस को बताया था कि दूसरे पक्ष ने उन पर गोली चलाई थी, जोकि गांधी के लगी थी। पुलिस जांच में पाया गया कि उक्त लोगों द्वारा दी गई जानकारी  गलत थी व घटनास्थल पर कोई गोली नहीं चली थी। उक्त लोगों ने क्रास मामला बनाने के लिए खुद ही गोली मारने की साजिश रची थी। जिसके चलते इन पर उक्त धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाना बनता है और थाना सदर पुलिस ने एस.एस.पी. के निर्देशों पर जुल्म में बढ़ोतरी की है।
    गौरतलब है कि 3 जनवरी को नायब तहसीलदार मनजीत सिंह के बेटे के विदेश जाने के लिए विजा मिलने की खुशी में होटल रॉयल प्लाजा में पार्टी रखी गई थी। जिसमें शामिल होने के लिए एस.पी. नरेश डोगरा अपने कुछ अन्य दोस्तों एवं होटल के पार्टनर विवेक कौशल के साथ वहां पहुंचे थे। मगर जब वे पार्टी से वापस आने लगे तो बंटी पक्ष के साथ उनका झगड़ा हो गया। इनका कहना था कि बंटी पक्ष ने उनपर जानलेवा हमला किया था तथा जबकि दूसरी तरफ बंटी के अनुसार उक्त लोग होटल पर कब्जा करने की नीयत से वहां आए थे। जिसे लेकर कहासुनी हो गई और बात मारपीट तक पहुंच गई। इस झगड़े में मनजीत सिंह, एस.पी. नरेश डोगरा व विवेक कौशल घायल हो गए थे और गोली चलने की बात भी सामने आई थी। जिसमें बंटी पक्ष के गांधी को गोली लगने से वह घायल हो गया था। पुलिस उच्चाधिकारियों ने इस मामले की जांच के लिए एस.आई.टी. गठित की थी तथा दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी गई थी। इस मामले में एस.आई.टी. में होटल से मिली सी.सी.टी.वी. फुटेज के आधार पर डोगरा पक्ष की तरफ से दर्ज मामले में कुछेक धाराओं को हटाने की सिफारिश की थी वहीं बंटी पक्ष के गांधी व नबाब द्वारा गोली चलने व घायल होने की जांच में पाया कि गोली मौके पर नहीं चली थी तथा उक्त लोगों ने मामला क्रास बनाने के लिए खुद ही कहीं गोली मारी थी। क्योंकि सी.सी.टी.वी. फुटेज में गोली चलने जैसी कोई बात सामने नहीं आई थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here