सतगुरु माता सुदीक्षा जी को आस्ट्रेलिया सरकार ने दिया नागरिकता का सम्मान

    0
    177

    होशियारपुर (मनप्रीत मन्ना ): संत निरंकारी मिशन पिछले 90 वर्षो से पूरे विश्व में परमात्मा के ज्ञान , भक्ति, मानवता, प्यार, विनम्रता, सहनशीलता, सेवा, सत्संग,सिमरन और परोउपकार का संदेश देता आ रहा है। इंसान को इंसानी जीवन की महत्ता और जीवन जीने की कला युगों युगों से संत-महापुरुषों ने सिखा कर समाज को एक सुखमय वातावरण देने का प्रयास किया है ताकि दुनिया में रहने वाला हर कोई इंसान का अपने आप को महफूज और सुख के वातावरण में जीवन की यात्र को तय कर पाए। यही संदेश आज के युग में निरंकारी मिशन के छठे सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज दुनिया भर में दे रहे है ताकि इंसान को जीवन जीने के लिए निरंतर एक सही दिशा मिलती रही और इंसान का लोक व प्रलोक दोनों सवर जाए। इसी संबंध में निरंकारी मिशन द्वारा राष्ट्रीय और अन्तराष्ट्रीय समागम निरंतर करवाए जा रहे है, ताकि सोए हुए इंसान को जगाकर इंसानी जीवन में स्वासों की कीमत का अहसास करवाया जा सके। आज का नौजवान अपने जीवन के मुल उद्देश्य से भटका हुआ है। युवा पीढ़ी को सही दिशा देने के लिए अध्यात्मिक युवा सम्मेलन करवाए जा रहे है। इसी संबंध में आस्ट्रेलिया के ब्लैकटाऊन सिटी में एक अन्तराष्ट्रीय युवा अध्यात्मिक सम्मेलन करवाया गया, जिसमें हजारों की संख्या में नौजवान भाई बहनों ने हिस्सा लिया और जीवन जीने की कला सतगुरु से सीखी। यह युवा सम्मेलन निरंकारी मिशन का पहला ऐसा सम्मेलन था, जिसमें युवाओं को प्रभु के ज्ञान के बारे में, मानवीय गुणों के बारे में और जीवन जीने की सच्ची कला के बारे में सतगुरु से आर्शीवाद प्राप्त हुई। इस सम्मेलन की कामयाबी को देखते हुए वहां के श्रीमान मेयर स्टीफन बाली ने सतगुरु माता जी के विचारों और मिशन की विचारधारा से प्रभावित होकर सतगुरु माता सुदीक्षा जी को ऑनरेरी नागरिकता का प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इस दौरान मेयर बाली ने कहा कि सतगुरु माता जी हम सभी के लिए एक प्रेरणा हैं क्योंकि उन्होंने आज के युवाओं को संतुलित जीवन शैली अपनाने की दिशा में मार्गदर्शन किया है, जिसमें वे मानव जीवन को विनम्रता से जीएं और मानवता के प्रति निस्वार्थ सेवा भाव से समर्पित रहें।
    15 एचएसपी-
    निरंकारी सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज को आस्ट्रेलिया की अनरेरी नागरिकता का प्रमाण पत्र सौंपते हुए आस्ट्रेलिया के मेयर स्टीफन बाली।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here