श्री गुरु रविदास सभा आदमवाल ने डा. भीम राय अंबेडकर जी के जयंती समारोह का आयोजन

    0
    164

    होशियारपुर। श्री गुरु रविदास सभा आदमवाल होशियारपुर की ओर से डा. भीम राय अंबेडकर जी के जयंती समारोह का आयोजन गांव आदमवाल में बहुत ही प्रभावशाली ढंग से किया गया। इस समारोह संबंधी जानकारी देते हुए एडवोकेट सुनील कुमार ने बताया कि गांव आदमवाल में डा. बी.आर. अंबेडकर पार्क का उदघाटन सभा की तरफ से गांव पंचायत के सहयोग से किया गया। इस समारोह में मुख्य तौर पर जिला परिषद सचिव अजय कुमार, डी.डी.बी.ओ. पठानकोट धर्मपाल सिद्धू, बी.डी.पी.ओ. राम लुभाया, डा. एस.पी. सिंह सच फाऊडेशन, डा. बलविंदर कुमार, एडवोकेट के.सी. महाजन, ठेकेदार भगवान दास, एडवोकेट चमन सिंह भटोया, जगदीश लाल बद्धन, दुर्गादास जस्सल, नरवीर सिंह नंदी, प्रिंसीपल चरनजीत सिंह, प्रो. बलराज, एक्सियन सुलखनपाल सिंह, प्रो. कशमीर सिंह लद्दड़, डा. तरलोक सिंह, प्रो. योगेश, प्रो. परमिंदर कौर, प्रो. रजेश कुमार टांडा, प्रिंसीपल गुरमीत सिंह, परममोहन लाल भटोया, सतवीर सिंह सत्ती, बिक्रमजीत सिंह समिति मैंबर और सभा के मैंबर मुख्य तौर पर शामिल हुए। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि बाबा साहिब डा. भीम राव अंबेडकर मात्र एक नाम नहीं बल्कि यह उस क्रांति का सूचक है, जिससे देश व समाज के समस्त वर्गों को आगे लाने के लिए समरासता का नारा देकर देश को तरक्की की तरफ अग्रसर किया है। उन्होंने कहा कि देश के संविधान के निर्माता डा. भीम राव अंबेडकर जी के सिद्धानों को अपनाना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है।
    इस समारोह में प्रगति कला केंद्र लादड़ा की ओर से डा. बी.आर. अंबेडकर जी के जीवन पर अधारित रुपातर पेश किया गया। प्रो. बलराज ने भी डा. बी.आर. जी से संबंधित गजले पेश की। मंच का संचालन एस.पी. सिंह और प्रो. अनू बाला ने बाखूबी किया।

    ेखडोजटेूखेथ ोतठ मखेफ ेडॅटिव् व्ॢट जटîिॅटै ेखडोजटेूखे ॅैख्नख्र सट. ॢठî ेटú जचॄलसबे लठ ठि लïचूठ व्îटेख्ने टि जटïख्नलु डूश्स जटîिॅटै डॅङर ॄेखू ेठ ूतॢटॅोटैठ हचम ुटै बठूट डमजटथ डपव् व्îटेख्ने व्चॄचीठ लटुबटेठ डचिलि जल्सॅख्नबलश् व्खुठै बखîटे ुल ङिडव्जट डब डूश्स जटîिॅटै सट. ॄठ.जटे. जचॄलसबे ूटेब टि छखयिटश्ु व्ॢट ॅैख्नख्र डूश्स ूश्रटडपू लि व्डेïख्नम ुटै बठूट डमजटथ डपव् व्îटेख्ने डॅङर îखङभ ू½े ूल डलैट ूडेो िव्बङूे जलल बखîटे, सठ.सठ.ॄठ.ú. ूषटुबख्नश् ीेîूटै डव्ङीफ, ॄठ.सठ.ूठ.ú. ेटî ऋॢटडपजट, सट. जल्व्.ूठ. डव्चे व्ङर ृटछफसलोु सट. ॄैडॅचेि बखîटे, जल्सॅख्नबलश् बल.व्ठ. îेटलु, षलबलटिे ॢमॅटु टिव्, जल्सॅख्नबलश् रîु डव्चय ॢश्ख्नजट, लमठिो ैटै ॄङीु, खिेमटटिव् लङव्ै, ुेॅठे डव्चय ुचठि, डूतचव्ठूै रेुलठू डव्चय, ूतख्न. ॄैेटल, जल्बडव्जटु व्खैङभुूटै डव्चय, ूतख्न. बोîठे डव्चय ैङन्न्,ि सट. ूेैख्नब डव्चय, ूतख्न. ïख्नमलो, ूतख्न. ूेडîचेि ब½े, ूतख्न. ेललो बखîटे श्गसट, डूतचव्ठूै मखेîठू डव्चय, ूेîîख्नेु ैटै ॢश्ख्नजट, व्ूॅठे डव्चय व्ङूठ, डॄबेîलठू डव्चय व्डîडू îल्ख्रॄे जूल व्ॢट लि îल्ख्रॄे îखङभ ू½े ूल ोटडîै ेख्नपलथ डपव् î½बल ूल ॄखैटडेजग ुल डबेट डब ॄटॄट व्टडेॄ सट. ॢठî ेटú जचॄलसबे îटूे डपङब ुटî ुेय् ॄैडब छखव् ंगडू टि व्फरब ्र, डलव् ुटै लिव् जूल व्îटल लि व्टेल ॅेमग ऽ जङमल डैजटछखु लि ैपठ व्îेटव्ूट टि ुटेट लि बल लिो ऽ ूेङबठ ॅङै ॅीटडपजट ्रथ छखेुग डबेट डब लिो लि व्चचडॅीटु लि डुेîटूट सट. ॢठî ेटú जचॄलसबे लठ लि डव्ीगूट ऽ जूुटछखुट ेठ छखेुग ऽ व्ङरठ ोीगलैठ ्रथ डपव् व्îटेख्ने डॅङर ूतमडू बैट बलख्रेि ैटन्न्टि ॅैख्नख्र सट. ॄठ.जटे. जचॄलसबे लठ लि लठॅु ूल जीटडेू ेफूटूे ूलो बठूट डमजटथ ूतख्न. ॄैेटल ुल सट. ॄठ.जटे. लठ ुटै व्चॄचडीू मलै ूलो बठूठथ îचर टि व्चरटैु जल्व्.ूठ. डव्चय जूल ूतख्न. जुफ ॄटैट ुल ॄटभफॄठ बठूटथ

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here