पंचकुला में सम्पन्न हुआ जोनल लेवल निरंकारी बाल समागम

    0
    243

    पंचकुला (मनप्रीत मन्ना )- सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज के आर्शिवाद से स्थानीय सैक्टर 9 स्थित संत निरंकारी सत्संग भवन पंचकुला में जोनल स्तर बाल समागम का आयोजन किया गया। जिसमें चण्डीगढ जोन की 38 ब्रांचों के सैक्ड़ों  बच्चों ने भाग लिया । जिसकी अध्यक्षता पानीपत के संयोजक श्री नरपाल सिंह जी ने की।उन्होंने बच्चों को सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज का आर्शिवाद देते हुए कहा कि जो बच्चे बचपन से ही आध्यामिकता के साथ जुड़ जाते हैं वो देश के अच्छे नागरिक बनते हैं, जो बच्चों को सत्संग सेवा सुमिरण केसाथ जोड़ते है वो माता-पिता भी खुद भी सुख पाते हैं और संसार को भी सुख प्रदान करते हैं।निरंकारी सत्गुरू माता सुदीक्षा जी महाराज की शिक्षाओं का जिक्र करते हुए और बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जीवन के बचपन के उदाहरण देते हुए श्री सिंह ने आगे कहा कि गुरूमत के रास्ते पर चलना गुरूसिख काकर्तव्य है। इससे गुरूसिख के मन में विशालता आती है जिससे उसके लिए सभी एक समान हो जाते हैं आज के बच्चे ही कल डॉक्टर, वकील, कवि  के साथ-साथ मिशन के रोशन मीनार कहलायेंगे। यह समागम हरसाल की तरह गर्मीयों की जब छूटिटयां होती है तो बच्चे इधर उधर मस्ती करके अपना समय व्यतीत करते हैं जबकि निरंकारी साध संगत के बच्चे सालों साल से इस तरह के रूहानियत भरे माहौल में बाल समागम कीतैयारी करते हैं।

    इस समागम में बच्चों द्वारा तैयार की गई मर्यादा व अनुशासन पर आधारित कोई संदेश, सम्पूर्ण हरदेव बाणी, मर्यादित होगा अगर बालपन, सहज सुखी होगा फिर जीवन, बाल जीवन मेें सीेखें मर्यादा के गुण आदिविषयों पर स्किट, कवि दरबार, समुह गान के साथ-साथ हरदेव वाणी की गायन प्रतियोगिता की गई। जिसमें चंडीगढ़ जोन के सभी ब्रांचों से बच्चों ने बहुत उत्साह पूर्वक भाग लिया।

    अन्त में चंडीगढ़ जोन के जोनल इंचार्ज श्री के0 के0 कश्यप जी ने आए हुए मुख्य अतिथि श्री नरपाल सिंह जी का व चंडीगढ़ जोन ने आई हुई सभी ब्रांचों के बच्चों के साथ आई हुई संगतों का धन्यवाद व स्वागत कियाऔर कहा कि बच्चे देश, समाज व मिशन के कर्मधार हैं और जो बच्चे सत्गुरू और निरंकार के साथ जुड़ जाते हैं उनको जीवन में कभी भी कोई कठिनाई नहीं आती यदि आ भी जाए तो वह उसको निरंकार की रजा मानतेहैैं। इस समागम में स्थानीय संयोजक श्री कुलदीप सिंह जी ने अपनी सारी टीम के साथ समागम को कामयाब करने के लिए पूर्ण सहयोग दिया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here