निरंकार प्रभु की जानकारी इस इंसानी जीवन में ही यह संभव : महात्मा डा. रत्न

    0
    152
     होशियारपुर (मनप्रीत मन्ना )सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज की कृपा से संत निरंकारी सत्संग भवन हरियाना में मुखी महात्मा डा. रत्न सिंह के नेतृत्व में संत समागम का आयोजन किया गया। इस मौके पर उन्होंने प्रवचन करते हुए कहा कि भक्त हमेशा इस परमात्मा की रजा में रहते हुए अपना जीवन व्यतीत करता है। जिंदगी में चाहे कोई दुख आ जाए चाहे सुख आ जाए वह हमेशा एक रस रहता है। वह हमेशा ही सेवा, सिमरन व सत्संग करते हुए सतगुरु के आदेशों का पालन करता है। सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के प्रवचनों का जिक्र करते हुए मुखी महात्मा डा. रत्न सिंह ने कहा कि इस निरंकार प्रभु की जानकारी की जा सकती है, इस इंसानी जीवन में ही यह संभव है। आने वाले समय में यह नश्वर शरीर खत्म हो जाएगा, इसलिए समय रहते इस निरंकार प्रभु की जानकारी कर लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गुरसिख सतगुरु की शिक्षाआें को कर्म रूप में जीवन में ढालकर दूसरों के लिए मार्गदर्शक बनता है। इससे पहले क्षमा याचना दिवस मनाया गया, इस दौरान संचालक महात्मा सुरिंदरपाल सिंह व शिक्षक बलदेव राज के नेतृत्व में सेवादल के सदस्यों ने क्षमा याचना शब्द गायन किया। इस मौके पर बलदेव सिंह, गुरप्रीत सिंह, विजय कुमार, गुरबचन सिंह, सुखविंदर कौर, दविंदर कौर, सरविंदर कौर, सुरजीत कौर आदि उपस्थित थे। सत्संग के बाद क्षेत्रीय संचालक महात्मा सरूप सिंह के नेतृत्व में सेवादल का कैंप लगाया गया। इस दौरान विधायक पवन कुमार आदिया पहुंचे, जिनको विशेष तौर पर सम्मानित किया गया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here