कर्जा माफी के नाम पर किसानों को बैंक रिकार्ड में मृत घोषित कर पंजाब सरकार ने भ्रष्टाचार की सभी हदें तोड़ी : खन्ना

    0
    256

    होशियारपुर (रमनदीप) भाजपा के पूर्व सांसद व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री अविनाश राय खन्ना ने बरनाला के गांव बडवाड़ की सहकारी सोसायटी द्वारा कर्जा मुआफी में भ्रष्टाचार के चलते गांव के 32 जिंदा किसानों को रिकार्ड में मृत घोषित करने के मामले का कड़ा संज्ञान लेते हुए प्रदेश मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखकर दोषी अधिकारीयों के विरुध सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।
    इस संबंधी श्री खन्ना के कार्यालय से ज्योति कुमार जौली ने बताया कि गत दिनों दि ट्रिबियून अखबार में प्रकाशित समाचार जिसमें बताया गया था कि पंजाब सरकार द्वारा किसानों के कर्जे मुआफ की बात सुनकर गांव बडवाड़ के किसानों ने संबंधित सहकारी सोसायटी को कर्जा मुआफी के लिए अपने दस्तावेज सौंपे थे परंतु जब कर्जा मुआफी की लिस्ट में उनका नाम नहीं आया तो उन्होंने सहकारी सोसायटी से पूछताछ की तथा रिकार्ड जांचने पर उन्हें पता चला कि सहकारी सोसायटी ने 32 किसानों को रिकार्ड में मृत घोषित किया हुआ था।गलती छुपाने के लिए सहकारी सोसायटी ने 19 किसानों को दोबारा जिंदा घोषित किया तथा शेष 13 किसान अभी भी अपनी होंद साबित करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।
    इस मामले का कड़ा संज्ञान लेते हुए श्री अविनाश राय खन्ना ने कहा कि जब से कांग्रेस सरकार प्रदेश की सत्ता में आई है, उसने हर वर्ग के साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा कि किसानों को कर्जा मुआफी के सपने दिखाकर प्रदेश की कांग्रेस सरकार किसानों का कर्जा मुआफ करने की जगह किसानों को ही साफ करने में लग गई है। श्री खन्ना ने कहा कि पंजाब सरकार का अपने आधीन विभागों पर कोई नियंत्रण नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों को मृत घोषित कर पंजाब सरकार ने भ्रष्टाचार की सभी हदें पार कर दी हैं। उन्होंने प्रदेश मानवाधिकार आयोग को इस संबंध में पत्र लिखकर इस मामले में दोषी अधिकारीयों को सख्त सजा दिलवाने की मांग की है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here