अनोखी पहल: सचदेवा स्टोक्स ने अपने कर्मियों के लिए शुरू किया हैल्थ चैलेंज

    0
    174

    होशियारपुर (शाम शर्मा ): तंदरूस्त सेहत ही बढिय़ा समाज की नींव रखी है, आजकल के व्यस्त व मोबाईल क्रांति में अपने कर्मियों को फिट रखने के लिए समाज सेवक परमजीत सिंह सचदेवा व उनके बेटे रणवीर सचदेवा के नेतृत्व में सचदेवा स्टाक्स की तरफ से लेट्स ग्रो टू गैदर (एलजीटी) हैल्थ चैलेंज करवाया गया। एलजीटी हैल्थ चैलेंज संबंधी बताते ही परमजीत सिंह सचदेवा ने कहा कि अपने कर्मियों को फिट रखने के लिए उद्देश्य से सचदेवा स्टाक्स की तरफ से ये ईवेंट करवाया गया। जिसमें उनके आफिस में कार्यरत कर्मियों को 3 महीनें में 500 किलोमीटर वॉक करने का टारगेट दिया था। इसके अलावा जो कर्मी साईकलिंग करना चाहते है उनके लिए ये टास्क 1250 किलोमीटर रखा गया था। इस चैलेंज को पूरा करने वाले कर्मियों के लिए कैश प्राईज भी रखा गया और इस चैलेंज को 30 कर्मियों ने पूरा किया जिन्हें 5100 रूपये का कैश प्राईज देकर सममानित किया गया। तांकि उन्हें देख कर बाकी कर्मी भी प्रोत्साहित हो। उन्होंने बताया इस चैंलेज को कंपलीट करने वाले कर्मियों का उत्साह बहुत बड़ा, उनमें कानफीडैंस की बढ़ौतरी हुई, जबसे ज्यादा बढिय़ा बात की ये कर्मी अपने सेहत के प्रति अवेयर हुये तथा इन तीन महीनों में मोबाईल व मोबाईल गेमस से दूर रहें। श्री सचदेवा ने बताया कि इन तीन महीनों में कुछ ओवर वेट कर्मियों का वेट कम हुआ, वहीं कई कर्मी फिट हुए। उन्होंने बताया इस चैलेंज का समापन कूकानेट टै्रकिंग प्वाईंट हुई जहां चैलेंज जीतने वालों को सममानित किया गया। उन्होंने बताया इस चैलेंज के बाद उन्हें शहर के लोगों ने कहा वो उन्हें भी इसमें शामिल करें क्योंकि ये तंदरूस्त सेहत के लिए बहुत बढिय़ा प्रयास है। उन्होंने बताया शहर में लेट्स ग्रो टू गैदर (एलजीटी) हैल्थ चैलेंज शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है जो अपनी सेहत के प्रति जागरूक है और रोजाना सैर करते है उनमें इस चैलेंज को लेकर खासी चर्चा देखने को मिल रही हैं जो बढिय़ा संदेश देती है कि लोग अपनी सेहत प्रति जागरूकता दिखा रहे है।
    परमजीत सचदेवा ने बताया कि अब कर्मियों के उत्साह को देखते हुए उन्होंने दूसरा चैलेंज 1 अक्तूबर से शुरू किया है जो श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव को समर्पित होगा। जिसमें अब हैल्थ चैलेंज भी 550 किलोमीटर का होगा, प्राईज मनी भी 5500 रूपये की गई है जबकि साईकलिंग करने वालों के लिए चैलेंज 1375 किलोमीटर का होगा। उन्होंने बताया अगर शरीर तंदरूस्त होगी तो दिमाग तंदरूस्त होगा, जिससे हर व्यक्ति अपने काम में बढिय़ा आऊटपुट दे सकता है। इस दौरान उनके साथ सचदेवा स्टाक्स के अन्य सदस्य भी मौजूद थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here