विजीलैंस द्वारा 1.24 करोड़ रुपए का घपला करने वाला मार्कफैड्ड का सीनियर ब्रांच अधिकारी गिरफ़्तार

0
611

जनगाथा न्यूज़ /चंडीगढ़। राज्य में भ्रष्टाचार को रोकने के मद्देनज़र विजीलैंस ब्यूरो पंजाब ने बुधवार को पंजाब मार्कफैड्ड के एम. आर. एम कंपलैक्स राजपुरा, ज़िला पटियाला में गेहूँ के स्टाक में बड़ा गबन करने के दोष अधीन सीनियर ब्रांच अधिकारी राजबीर सिंह बैंस को गिरफ़्तार कर लिया है। उक्त मामले में राजबीर सिंह बैंस सहित शामिल मार्कफैड के चार मुलजिमों ने एम. आर. एम. कम्पलैक्स में भंडारित की 6097 क्विंटल गेहूँ की 12,194 बोरियों की हेरा-फेरी करके सरकारी खजाने को 1,24,61,658 रुपए का भारी नुकसान पहुँचाया है।

-मार्कफैड्ड के चार मुलाजिमों ने भंडारित की 6097 क्विंटल गेहूँ की 12,194 बोरियों का किया था गबन

 

इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये आज यहाँ स्टेट विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि इस सम्बन्ध में आई. पी. सी. की धारा 409, 120-बी और भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की धारा 13(1) डी, 13(2) के अंतर्गत एफआईआर नंबर 7 तारीख़ 13-05- 2016 को विजीलैंस ब्यूरो के थाना पटियाला में पहले ही मामला दर्ज किया हुआ था। इस केस में राजबीर सिंह बैंस सीनियर ब्रांच अफ़सर मार्कफैड्ड, राजपुरा, फ़रीद ख़ान, निगरान (कस्टोडियन), एमआरएम कंपलैक्स और दलेर सिंह, सेलज़मैन को इस गबन के लिए ज़िम्मेदार पाया गया। इस मामले की जांच के दौरान अश्वनी कुमार, फील्ड अफ़सर, ओपन पलिंथ (गोदाम), गाँव ढींडसा, राजपुरा को भी बाद में नामज़द किया गया।

उन्होंने आगे बताया कि यह मामला एमआरएम कंपलैक्स राजपुरा में ख़ाद्य और सिवल सप्लाई विभाग के अधिकारियों के साथ मार्कफैड्ड के भंडारण गोदामों और ढींडसा में खुले पलिंथ की अचानक चैकिंग करने के उपरांत दर्ज किया गया है। इस चैकिंग के दौरान विजीलैंस ब्यूरो की टीम को पता लगा है कि मार्कफैड्ड के उक्त मुलाजिमों ने साल 2013-2014, 2014-2015 और 2015-2016 के दौरान 6097 क्विंटल वज़नी गेहूँ की 12194 बोरियों का गबन करने के लिए ज़िम्मेदार पाये गए थे। इस तरह उक्त दोषियों ने इस गेहूँ के स्टाक का दुरुपयोग करके सरकारी खजाने को 1,24,61,658 रुपए का नुकसान पहुंचाया है। इस सम्बन्धी आगे जांच जारी है।
————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here