दिल की बीमारी से बचना चाहते हैं तो ले ओमेगा-3 फैटी एसिड!

    0
    18

    न्यूयॉर्क। सालमन और ट्राउट जैसी फैटी एसिड से भरपूर मछलियां, अलसी का तेल और अखरोट खाने से ओमेगा-3 फैटी एसिड में बढ़ोतरी होती है, जिससे हृदय रोग का खतरा कम हो जाता है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। इस शोध में पता चला है कि वनस्पति या फिर समुद्री भोजन में पाए जानेवाले ओमेगा-3 से घातक दिल के दौरे का खतरा करीब 10 फीसदी तक घट जाता है।

    अमेरिका के बोस्टन के टफ्ट विश्वविद्यालय के डेरियूस मोजाफ्रीयन का कहना है कि हमारे शोध के निष्कर्षों से पता चला है कि मछली और ओमेगा-3 का सेवन करना एक स्वास्थ्यवर्धक खानपान का हिस्सा है।

    मछली ओमेगा-3 फैसी एसिट का प्रमुख स्रोत है, जिसमें इकोसापेनटेनोइक एसिड (ईपीए), डोको सापेनटेनोइक एसिड (डीपीए) और डोकोसाहेशेएनोइक एसिड (डीएचए) भी मौजूद होता है।

    अमेरिका के कृषि के राष्ट्रीय पोषण डेटाबेस के मुताबिक, फैटी मछलियां जैसे सालमन, ट्राउट, एंचोवे, सारडिन और हेर्रिग में ओमेगा-3 फैटी एसिड की सबसे अधिक मात्रा पाई जाती है।

    ओमेगा-3 फैटी एसिड के अलावा मछलियों में विशिष्ट प्रोटीन, विटामिन डी, सेलेनियम और अन्य खनिज व तत्व पाए जाते हैं।

    इस शोध में कहा गया है कि अल्फा लिनोलेनिक एसिड (एएलए) एक वनस्पति आधारित ओमेगा-3 फैटी एसिड है जो अखरोट, अलसी के तेल और कैनोला तेल व अन्य बीजों और बादाम आदि में पाया जाता है।

    इस शोध के तहत कुल 16 देशों में 45,637 भागीदारों के साथ कुल 19 अध्ययन किए गए। शोध में शामिल 7,973 लोगों में समय के साथ पहला दिल का दौरा देखने को मिला, जिनमें से 2,781 लोगों की मौत हो गई और 7,175 लोग दिल के दौरे के बाद भी बचने में कामयाब रहे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here