EVM में गड़बड़ी, तीन तलाक जैसे 5 मुद्दों पर खुलकर बोले मोदी, अपने नेताओं को भी नसीहत

    0
    5

    JANGATHA TIMES : ओडिशा के भुवनेश्वर में आयोजित बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी के आखिरी दिन रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताओं को संबोधित किया. पीएम के संबोधन के साथ ही कार्यक्रम का समापन हो गया. पीएम मोदी ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि आज कल दूसरे दल के लोग हर रोज नए-नए मुद्दे फैक्ट्री में तैयार कर रहे हैं. साथ ही पीएम अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी ज्यादा उत्साहित नहीं होने की नसीहत दी.

    पीएम ने कार्यकारिणी के मंच से ये पांच बड़े संदेश दिए.

    1. नए-नए मुद्दे फैक्ट्री में बनाता है विपक्ष
    पीएम मोदी ने कहा कि लगता है कि विपक्ष नए-नए मुद्दे आज कल फैक्ट्री में बनाता है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में चुनाव के वक्त विपक्ष ने चर्च पर हमले की बात उठाई. फिर जब बिहार में चुनाव होने लगे तो जोर-शोर से अवॉर्ड वापसी का मुद्दा चलाया गया. लेकिन आज कल पता नहीं अवॉर्ड वापसी वाले कहां हैं? उन्होंने कहा कि अब ईवीएम में छेड़छाड़ को मुद्दा बनाने की कोशिश जारी है.

    2. न्यू इंडिया के फॉर्मूले पर देश अग्रसर
    प्रधानमंत्री ने कार्यकारिणी में कहा कि देश तरक्की की राह पर अग्रसर है. सरकार जनता के बारे में सोचती है लेकिन विपक्ष वो मुद्दे नहीं उठा रहा है जिससे जनता का सरोकार है. पीएम ने कहा कि देश न्यू इंडिया के फॉर्मूले पर आगे बढ़ रहा है और सरकार पूरी ईमानदारी से इस काम कर रही है.

    3. तीन तलाक पर पीएम मोदी का नजरिया
    बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में तीन तलाक मुद्दे पर भी चर्चा हुई. पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी का रुख तीन तलाक मुद्दे पर बिल्कुल साफ है. उन्होंने कहा कि तीन तलाक से मुस्लिम बहनों को दिक्कत हो रही है और केंद्र सरकार इस पर जल्द हल चाहती है. पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे वरिष्ठ नेता कहा करते थे, राज नहीं समाज को बदलना है.

    4. अमित शाह सबसे बड़े चुनावी रणनीतिकार
    यूपी में प्रचंड जीत का पीएम मोदी ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के सिर बांधा. उन्होंने कहा कि चुनावी रणनीति कैसी बनाई जाती है, ये उत्तर प्रदेश में अमित शाह ने साबित कर दिया है. साथ ही पीएम ने कहा कि हम जहां सत्ता में हैं वहां हम ऐसा बदलाव लाएंगे कि देश विकास की दौड़ में नंबर एक हो जाएगा.

    5. बड़बोले नेताओं को नसीहत
    विपक्ष पर हमले के साथ-साथ पीएम ने पार्टी नेताओं को भी नसीहत दी. उन्होंने कहा कि पार्टी नेता संयम से काम करें, जीत से ज्यादा उत्साहित न हों. नेता बड़बोलेपन से बचें. बयानबाजी न करें. अगर किसी को शिकायत है तो वो मुझसे से बात करें.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here