स्मार्टफोन की बैटरी बचानी है तो हटाएं ये एप्स

    0
    6

    आजकल सभी स्मार्टफोन यूज़र्स अपने स्मार्टफोन की बैटरी जल्द खत्म होने की वजह से परेशान रहते हैं, रोज कुछ ना कुछ उपाय ढूंढते हैं, अपने फोन की बैटरी बचाने के लिए। जैसे ही बैटरी खत्म होने का नोटिफिकेशन दिखाता है वैसे ही हम चार्जर की तरफ ऐसे भागते हैं, जैसे कोई ट्रेन छूट रही हो। आज के टाइम में सबसे ज्यादा टेंशन जो लोगों को रहती है, वह है उनके स्मार्टफोन की बैटरी की टेंशन। आजकल ज्यादातर काम भी स्मार्टफोन के ज़रिये हो जाते हैं, चाहे वो बैंकिंग हो हैल्थ, शॉपिंग, चैटिंग, म्यूज़िक, गेम या मूवी टिकट बुकिंग या अन्य काम, ये सभी ज़रूरतें एप्प के ज़रिये आसानी से पूरी हो जाती हैं। लेकिन इन सबके इस्तेमाल से फोन की बैटरी भी ज्यादा खर्च होती है। इसके अलावा स्मार्टफोन की बैटरी गेम खेलने, वीडियो देखने, गाने सुनने आदि कई तरह के काम से कम होती रहती है। इसमें कोई दो राय नहीं कि जितनी एप्स हमारे स्मार्टफोन में होंगी, बैटरी उतनी ही खर्च होगी। ऐसे बहुत सी एप्स हैं जो स्मार्टफोन की बैटरी के लिहाज से ठीक नहीं हैं और इनका प्रदर्शन भी खराब है। इस लेख के माध्यम से हम नज़र डालेंगे कुछ ऐसी एप्स पर जिनको अनइंस्टॉल करके आप अपने स्मार्टफोन की बैटरी को बचा सकते हैं। आइये जानते हैं कुछ ऐसी प्रमुख एप्स के बारे में जो आपके फोन की बैटरी को नुकसान पहुंचा सकती हैं:-

    1. सोशल मीडिया एप्स:- सोशल मीडिया के अंतर्गत आने वाले एप्स बैटरी को ज्यादा खर्च करते हैं जैसे कि फेसबुक एप्प। फेसबुक सबसे पॉपुलर एप्प है, पर इसके साथ-साथ ये बैटरी भी बहुत ज्यादा खर्च करता है। ये एप्प स्मार्टफोन के बैकग्राउंड पर रन करता रहता है, ताकि आपको सभी नोटिफिकेशन लगातार भेज सके, ये सभी चीज़ें फोन की बैटरी को खत्म करने में बड़ी भूमिका निभाते हैं।

    फेसबुक एप्प के साथ-साथ फेसबुक मैसेंजर भी ऐसा ही एप्प है जो बैटरी ज्यादा खाता है। इसके साथ ही स्नैपचैट, इंस्टाग्राम, स्काइप, ये सभी एप्स बैकग्राउंड पर रन कर रही होती हैं जिसके कारण ये ज्यादा बैटरी इस्तेमाल करती हैं।

    2. बैटरी सेवर एप्स:- आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि जो एप्प आप अपने स्मार्टफोन की बैटरी बढ़ाने के लिए यूज़ कर रहे हैं, वही आपकी बैटरी ज्यादा खत्म कर रही है। जी हां, रैम क्लीन करने वाली और बैटरी सेफ करने वाली एप्स भी ज्यादा बैटरी खर्च करते हैं। दरअसल ये सभी एप्स बैकग्राउंड पर रन करती हैं, जब आप अपने स्मार्टफोन को इस्तेमाल नहीं कर रहे होते तब भी ये आपके हैंडसेट को लगातार स्कैन करते रहते हैं और जंक फाइल्स और वायरस को क्लीन करते रहते हैं।

    3. एंटी वायरस एप्स:- एंटी वायरस एप्प भी बैटरी सेवर और रैम मैनेजमेंट एप्स की तरह बैटरी बहुत खाती है। ये एप्प भी बैकग्राउंड में रन करते हैं ताकि मोबाइल को वायरस से बचा सकें। स्मार्टफोन को स्कैन करने में ये एप्प जितना ज्यादा वक्त लेंगी, बैटरी उतनी ही तेज़ी से खर्च होगी। कुछ ऐसी एप्स भी हैं जो आपके स्मार्टफोन के कैमरा के एक्सेस भी हासिल कर लेती हैं, ताकि जो भी आपका मोबाइल हैंडसेट अनलॉक करने की कोशिश कर रहा है उसकी तस्वीर ले सके। ये फीचर खास होने के साथ-साथ अच्छा भी है, मगर ये बैटरी को भी जल्द खत्म करता है।

    4. इंटरनेट ब्राउज़र एप्स:- अगर आप अपने फोन की बैटरी को कुछ बचाने की कोशिश करना चाहते हैं तो अपने फोन्स में से जितने भी इंटरनेट ब्राउज़र एप्स हैं, उनमें से कोई एक रखकर बाकी तुरंत डिलीट कर दें। एक से ज्यादा ब्राउज़र एप्प मत रखें। कुछ ब्राउज़र एप्स न्यूज़ या अन्य तरह के नोटिफिकेशन के लिए इंटरनेट से जुड़े होते हैं, जिनकी वजह से बैटरी ज्यादा खर्च होती है, जिस पर कंट्रोल किया जा सकता है।

    5. फोटो एडिटिंग एप्स:- अगर आपको तस्वीरें खींचने और उन्हें एडिट करने का शौक है तो ज़रूर आपके स्मार्टफोन में एडिटिंग एप्स मौजूद होंगी। जिससे आप अपनी पसंद से फोटो एडिट करके फोटोज़ को यूज़ करते होंगे। पर ध्यान देने वाली बात ये है कि ये सभी एप्स बहुत ही हैवी होती हैं और इमेज आदि प्रोसेस करने में बैटरी पॉवर बहुत इस्तेमाल करती हैं इसलिए हो सके तो इन एप्स का इस्तेमाल कम से कम करें या फिर एक पॉवर बैंक अपने साथ लेकर चलें।

    6. गेमिंग एप्स:- गेमिंग एप्स हर किसी स्मार्टफोन यूज़र्स के फोन में मौजूद हैं। अगर आप गेम खेलना पसंद करते हैं, तो इन गेमिंग एप्स को हटाना आप शायद पसंद ना करें। ये गेमिंग एप्स जितने हैवी होंगे, उतने ही ज्यादा बैटरी खर्च करेंगी। 3डी एनिमेशन वाले गेमिंग एप्स बैटरी को जल्द खत्म करते हैं, अगर आप अपनी पसंदीदा गेमिंग एप्स को अनइंस्टॉल नहीं करना चाहते हैं तो इन्हें फोर्स स्टॉप कर सकते हैं। ऐसा करने से ये तब तक इनऐक्टिव रहते हैं जब तक आप फिर से इन पर टैप नहीं करेंगे।

    तो ये थी कुछ ऐसे एप्स की जानकारी, जिनको हटाकर या कम इस्तेमाल करके आप अपने स्मार्टफोन को एक नया जीवनदान दे सकते हैं। और अपने स्मार्टफोन को स्मार्टली इस्तेमाल कर सकते हैं।

    (साभार)

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here