आप नेता आशीष खेतान के खिलाफ मामला दर्ज

    0
    10

    अमृतसर। पुलिस ने आम आदमी पार्टी नेता आशीष खेतान के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को कथित तौर पर ठेस पहुंचाने के आरोप में एक मामला दर्ज किया है। खेतान के खिलाफ यह मामला पंजाब विधानसभा चुनाव के वास्ते आम आदमी पार्टी द्वारा युवाओं के लिए अपने घोषणापत्र को जारी करने के दौरान इसे धार्मिक पुस्तकों के समकक्ष बताने के लिए माफी मांगे जाने के एक दिन बाद दर्ज किया गया। अमृतसर के सिविल लाइन्स पुलिस थाने में बीती रात खेतान के खिलाफ भादंसं की धारा 295 ए (किसी वर्ग के धर्म या धार्मिक आस्थाओं का अपमान कर उसकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों को अंजाम देना) के तहत एक मामला दर्ज किया गया है।

    पुलिस आयुक्त (अमृतसर) अमर सिंह चहल ने आज यहां बताया कि यह मामला अखिल भारतीय सिख छात्र संघ (एआईएसएसएफ) के अध्यक्ष करनैल सिंह पीर मोहम्मद की शिकायत पर मंगलवार को दर्ज किया गया। शिकायत के अनुसार, आप नेता ने अपने ‘युवाओं के लिए घोषणापत्र’ को अमृतसर में जारी करते समय इसे ‘गुरुग्रंथ साहिब’ तथा अन्य धार्मिक पुस्तकों के समकक्ष बता कर लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।
    शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि घोषणापत्र के कवर पेज पर स्वर्ण मंदिर की तस्वीर और उस पर पार्टी का चुनाव चिह्न झाड़ू लगाया गया है जिससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। पुलिस ने कहा कि वह मामले की जांच कर रही है। इस मुद्दे पर आलोचना से घिरी आप ने मंगलवार को माफी मांगते हुए कहा कि उसका इरादा समाज के किसी भी वर्ग को आहत करने का नहीं था। आप नेता आशीष खेतान ने मंगलवार को खन्ना में कहा था कि पार्टी किसी भी वर्ग, समुदाय या किसी भी व्यक्ति को आहत करने का इरादा नहीं रखती।
    पूर्व में, खेतान ने इस घोषणापत्र को जारी करने के दौरान इसकी तुलना गुरूग्रंथ साहब जी एवं अन्य धर्मग्रंथों बाइबल, गीता आदि से की थी। पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने भी आप के युवा घोषणापत्र के मुखपृष्ठ पर स्वर्ण मंदिर और उस पर आप के चुनाव चिह्न झाड़ू की तस्वीर लगाने को लेकर पार्टी की आलोचना की थी और कहा कि था कि यह पवित्र ग्रंथ का अनादर है, इसलिए आप संयोजक अरविंद केजरीवाल को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here