US गे क्लब शूटिंगः जान जोखिम में डाल भारतीय मूल के इमरान ने बचा लिए 70 लोग

    0
    15

    इमरान इस गे क्लब में बाउंसर के तौर पर तैनात थे। बता दें कि रविवार को हुई फायरिंग में 53 लोग मारे गए थे।

    न्यूयार्क.   फ्लोरिडा के ‘पल्स’ एलजीबीटी नाइट क्लब में 12 तारीख हुई फायरिंग में 53 लोग मारे गए थे। अगर भारतीय मूल के एक पूर्व यूएस मरीन इमरान यूसुफ क्लब का पीछे का गेट नहीं खोलते तो मौतों का आंकड़ा काफी ज्यादा हो सकता था। इमरान अब यूएस में हीरो माना जा रहा है। उन्होंने करीब 70 लोगों की जान बचाई। इमरान क्लब में बाउंसर थे। क्रॉस फायरिंग में हमलावर उमर मतीन पुलिस के हाथों मारा गया था। लेकिन मरने के पहले उसने 53 लोगों को भी मौत की नींद सुला दिया था। उस रात क्या हुआ था, इमरान की जुबानी …
    – गे नाइट क्लब में रविवार रात जब उमर मतीन ने फायरिंग शुरू की तब इमरान डयूटी पर तैनात थे।
    – 24 साल के इमरान के मुताबिक- “जब फायरिंग शुरू हुई थी तब मैं क्लब के पीछे वाले हिस्से में था।”
    – ” मैंने शुरुआत में तीन से चार गोलियों को आवाज सुनी। साफ पता लगा कि यह हाई कैलिबर की फायरिंग थी।”
    – ” जो जहां था, वहीं, रुक गया। मैंने सोचा कि अगर पिछला दरवाजा खोल दिया जाए तो कई लोगों को बचाया जा सकता है।”
    – ” मैं लोगों से चिल्लाकर कह रहा था कि “ओपन द डोर” “ओपन द डोर”। लेकिन किसी को भी डर की वजह से कुछ सूझ ही नहीं रहा था। कोई आगे नहीं बढ़ रहा था।”
    – ” हमारे पास कोई और च्वॉइस नहीं थी। यदि हम वहां रुकते तो मारे जाते। मैंने एक कोशिश की। पीछे के गेट को खोलने के लिए जम्प लगा दी।”
    – ” डोर खोलने में मैं कामयाब रहा। कई लोग बाहर निकल गए और उनकी जान बच गई।”
    – मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यूसुफ 60 से 70 लोगों की जान बचाने में सफल रहे।
    – इमरान के भाई अमीर युसूफ ने कहा- “हमें बिलकुल उम्‍मीद नहीं थी कि मेरे भाई की मरीन कॉर्प्‍स में ट्रेनिंग इतनी काम आएगी।”
    – ” भाई ने 17 साल की उम्र में हाई स्‍कूल के बाद मरीन ज्‍वॉइन कर ली थी और अफगानिस्‍तान और इराक में सर्विसेस दीं। वो इस एक महीने से वहां काम कर रहा था।”
    – उधर, मरीन कॉर्प्‍स एसोसिएशन ने इमरान की फोटो के साथ ट्वीट किया, ” शूटिंग के दौरान सार्जेंट इमरान ने कई लोगों की जिंदगी बचाई।”
    क्या हुआ था रविवार को क्लब में
    – ‘पल्स’ एलजीबीटी गे कम्युनिटी का पॉपुलर नाइट क्लब है।
    – LGBT कम्युनिटी इस क्लब में प्राइड मंथ सेलिब्रेट कर रही थी।
    – यहां पार्टी चल रही थी। रविवार तड़के 2 बजे हमलावर उमर मतीन घुसा। उसने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।
    – करीब डेढ़ सौ लोग क्लब में मौजूद थे। उस वक्त वे अमेरिकी लैटिन धुनों पर नाच-गा रहे थे।
    कौन हैं इमरान

    – इमरान एक्स यूएस मरीन अफसर है। उसने अफगानिस्तान और इराक में अपनी सर्विसेस दी हैं।
    – रिपोर्ट के मुताबिक, उसके पूर्वज वेस्ट इंडिया से है। उसके अंकल के मुताबिक, उसकी मां और नानी हिंदू थीं।
    – इमरान के पूर्वज कई साल पहले भारत से गुयाना शिफ्ट हो गए थे। उसका बचपन निस्कायुना में बीता।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here