Select Page

जब जेल से गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने बिल्डर से मांगी एक करोड़ की रंगदारी – जानने के लिए पढ़े पूरी ख़बर

जब जेल से गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने बिल्डर से मांगी एक करोड़ की  रंगदारी – जानने के लिए पढ़े पूरी ख़बर

होशियारपुर। न्यूज़ डेस्क। कई राज्यों में आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वाले गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की तरफ से एक बिल्डर को फोन करके एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी गई। हालांकि यह पुष्टि नहीं हो पाई है कि फोन लॉरेंस ने ही किया था किसी और ने उसके नाम से रंगदारी वसूलने की कोशिश की है क्योंकि बिश्नोई अभी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। जानकारी के मुताबिक जयपुर के एक बिल्डर के वॉट्सऐप पर फोन करके उससे एक करोड़ की रंगदारी मांगी गई।

फोन पर आवाज़ आई, हलो मैं तिहाड़ जेल से लॉरेंस बिश्नोई बोल रहा हूं। उसने कहा, ‘मुझे एक करोड़ रुपये की जरूरत है। दो दिन में व्यवस्था कर लो। पुलिस को इसकी जानकारी नहीं मिलनी चाहिए वरना मेरे शूटर हर जगह घूमते रहते हैं।’ पुलिस इस बात की जांच में जुट गई है कि जेल से बिश्नोई ने ही फोन किया था या उसके नाम से किसी और ने रंगदारी वसूलने की कोशिश की है।
धमकी मिलने के बाद बिल्डर ने जवाहर नगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई। बिल्डर ने बताया कि फोन करने वाले शख्स ने कहा कि दो दिन बाद वह कॉल करेगा और जहां पैसे देने हैं, वो जगह बताएगा। उसने धमकी भी दी है कि अगर पुलिस को इसकी भनक लगी तो वह पैसै नहीं लेगा बल्कि उसकी जान ले लेगा। बिल्डर ने बताया कि पहले तो उसने यह बात किसी से नहीं कही लेकिन दो दिन बाद 9 सितंबर को फिर से कॉल आया।

डर के मारे उसने कॉल रिसीव नहीं की। बाद में दो मेसेज आए। एक में केवल डॉट-डॉट था और दूसरे में प्रश्नवाचक निशान (?) बना हुआ था। इसके बाद बिल्डर ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस अब इन मोबाइल नंबरों की लोकेशन के आधार पर सिनाख्त करने की कोशिश कर रही है।

कौन है लॉरेंस बिश्नोई?
लॉरेंस बिश्नोई पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वाला गैंगस्टर है। बताया जाता है कि उसके 600 शार्प शूटर हैं। तिहाड़ में बंद होने के बाद गैंगस्टर के निशाने पर बॉलिवुड अभिनेता सलमान खान सहित कई बड़े सिंगर भी हैं। रेडी फिल्म की शूटिंग के दौरान भी उसने हमला करने का प्लान बनाया था लेकिन किन्हीं वजहों से फेल हो गया।

 

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *