Select Page

अखिल भारतीय हिन्दी उपन्यास प्रतियोगिता में डा. साहिल का ” मचान ” प्रथम

अखिल भारतीय हिन्दी उपन्यास प्रतियोगिता में डा. साहिल का ” मचान ” प्रथम

अखिल भारतीय हिन्दी परिषद्, जयपुर महानगर, राजस्थान के अध्यक्ष डॉ. मथुरेश नंदन कुलश्रेष्ठ ने पत्र दवारा सूचना दी है कि डॉ. धर्म पाल साहिल का उपन्यास” मचान” श्री शुकदेव अखिल भारतीय हिन्दी उपन्यास प्रतियोगिता 2020 पुरस्कार हेतु चुना गया है.इस पुरस्कार के फलस्वरूप ₹ 31 हजार रुपये की राशि भेंट की जाएगी. यह पुरस्कार संस्था दवारा मई 2021 में आयोजित होने वाले कार्य क्रम में प्रदान करने की योजना है. उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय स्तर पर पहुँची प्रविष्टियों का आठ विशेषज्ञों ने तीन चरणों में मुल्यांकन किया और उपन्यास ” मचान ” ने सर्वाधिक अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान हासिल किया.पंजाब के कंडी क्षेत्र की आंचलिकता को प्रतिबिंबित करता” मचान” डॉ. साहिल का आठवां उपन्यास है.इससे पूर्व भी उनके उपन्यास ” बायस्कोप ” केंद्रीय हिन्दी निदेशालय ” की ओर से राष्ट्रीय पुरस्कार, तथा ” समझौता एक्सप्रेस ” व ” बेटी हूँ न! ” को भाषा विभाग, पंजाब की ओर से सर्वोत्तम पुस्तक पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है.इस अवसर पर त्रिवेणी साहित्य अकादमी, जालंधर के सरंक्षक डॉ . हरमहेंदर सिंह बेदी, अध्यक्ष डॉ. गीता डोगरा, प्रिंसिपल प्रोमिला अरोड़ा, डॉ. मनोज कुमार प्रीत,( प्रीत साहित्य सदन, लुधियाना) जतिन्द्र सिंह मानकू ( संयोजक दृष्टि: द विजन मंच, होशियार पुर) , प्रो. अरविंद पराशर आदि कई साहित्यकारों एवं बुद्धिजीवियों ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए मुबारकबाद दी है

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *