Select Page

छुटभैया नेताओं को करणी सेना पर टिप्पणी करने का कोई हक नहीं: लक्की ठाकुर

छुटभैया नेताओं को करणी सेना पर टिप्पणी करने का कोई हक नहीं: लक्की ठाकुर

होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (सिमरन)

होशियारपुर : हाथरस में एक बेटी के साथ हुई हैवानियत की खबर का पता चलते ही श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामैडी द्वारा इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की गई थी और आरोपियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट लगाकर जल्द से जल्द उन्हें फांसी दिए जाने की मांग की गई थी। लेकिन कुछ छुटभैया नेताओं जोकि धर्म और जातिवाद आधारित गंदी राजनीति से ऊपर उठकर कुछ सोचना ही नहीं चाहते इस मामले को भी राजनीतिक रंगत देकर अपना स्वार्थ सिद्ध करने में लगे हुए हैं। जिसे जनता भलीभांति जानती हैं और इनके बहकावे में बिलकुल नहीं आएगी। यह बात श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेश महासचिव लक्की ठाकुर ने एक प्रैस विज्ञप्ति में कही। उन्होंने कहा कि श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना से अगर किसी को इतनी ही तकलीफ हैं तो वे उन्हें सीधे तौर पर समय देकर मिल सकता हैं या हमें बता दे कि हम कहां आएं। हमारी सेना का एक-एक कार्यकर्ता देश और धर्म तथा बहन-बेटियों की रक्षा के लिए सक्षम हैं और हमें पता हैं कि कब क्याकरना हैं तथा किसी मुद्दे पर क्या स्टैंड लेना हैं। इसके लिए हमें न तो किसी की सलाह की जरुरत हैं और न ही किसी को हक हैं कि वो किसी पर टिप्पणी करे। हर संस्था स्वतंत्र है और उसे जो अच्छा लगता हैं वो उस मुद्दे पर बोलने की अधिकारी हैं। मगर, हाथरस जैसे संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति करना किसी भी सूरत में सही नहीं ठहराई जा सकती।

लक्की ठाकुर ने कहा कि देश के किसी भी कोने में किसी भी बेटी के साथ कोई अप्रिय घटना घटती हैं तो वो सारे देश को शर्मसार कर जाती हैं। ऐसे में समाज के हर वर्ग और समुदाय का फर्ज बनता हैं कि बेटियों की रक्षा एवं सुरक्षा के लिए एकजुटता से कदम उठाएं तथा इन मामलों को जाति व धर्म के साथ जोड़कर न देखा जाए। उन्होंने कहा कि हाथरस में बेटी के साथ दरिंदगी करने वालों को फांसी की सजा दी जानी चाहिए तथा दिन के साथ-साथ खासकर रात के समय चौकसी और बढ़ानी चाहिए ताकि रात के साथ अगर किसी बेटी व महिला को कहीं जाना पड़ता हैं तो उसके मन में किसी तरह का डर या खौफ न हो।

लक्की ठाकुर ने यू.पी. सरकार, केंद्र सरकार और समस्त राज्यों की सरकारों से मांग की कि वो किसी घटना के बाद ही न जागा करे या किसी बड़ी घटना का इंतजार किए बिना ही समाज एवं बेटियों के प्रति अपने फर्ज को समझते हुए उनकी सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाएं। इस मौके पर मोंटी ठाकुर, राजेश सूरी, राकेश चावला, कुलविंदर बब्बू, अमनदीप सिंह, अभि भाटिया, नवनीत भाटिया व बबलू कुमार आदि मौजूद थे।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *