Select Page

कौ-सेस का गौधन संभाल के लिए प्रदेश सरकार करे उचित उपयोग: खन्ना

कौ-सेस का गौधन संभाल के लिए प्रदेश सरकार करे उचित उपयोग: खन्ना

होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (सिमरन)

होशियारपुर : भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व सांसद अविनाश राय खन्ना ने प्रदेश में सड़कों पर घूम रहे आवारा पशुओं तथा गौधन के रखरखाव की उचित व्यवस्था करने संबंधी प्रदेश मानवाधिकार आयोग में याचिका दायर की हैं। खन्ना के कार्यालय से ज्योति कुमार जौली ने बताया कि खन्ना ने आज प्रदेश मानवाधिकार आयोग की सदस्या ऐडवोकेट अविनाश कौर वैद के साथ स्थानीय पी.डब्लयू.डी. रैस्ट हाऊस में व्यक्तिगत तौर पर मुलाकात कर उन्हें आवारा पशुओं व गौधन के रखरखाव से संबंधी याचिका की प्रति सौंपी हैं। खन्ना ने आयोग की सदस्या को बताया कि पिछली प्रदेश सरकार ने गौधन के रखरखाव हेतु हर जिले में 25-25 एकड़ जमीन में कैटल पाऊंड बनाने व गौधन की व्यवस्था हेतु जिला स्तरीय कमेटियों का गठन करवाया था परंतु मौजूदा प्रदेश सरकार ने न तो गौधन व आवारा पशुओं के रखरखाव के प्रति कोई कदम उठाया और न ही कभी इस संबंधी गठित जिला स्तरीय कमेटियों की बैठक हुई।

खन्ना ने बताया कि इसके अतिरिक्त पूरे प्रदेश में 472 प्राईवेट गऊशालाएं हैं जिनकी तरफ भी प्रदेश सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही हैं। खन्ना ने मानवाधिकार आयोग की सदस्या एडवोकेट अविनाश कौर वैद को बताया कि आवारा पशुओं के कारण सड़कों पर होने वाली दुर्घटनाओं तथा किसानों की फसलों की बर्बादी की जिम्मेदार मौजूदा प्रदेश सरकार हैं। प्रदेश सरकार लगभग 9 से ज्यादा उत्पादों पर कौ-सेस लगाती हैं परंतु इस टैक्स का प्रदेश सरकार रही उपयोग न कर प्रदेशवासियों के मानवाधिकारों का हनन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार इस टैक्स का गौधन संभाल के लिए उचित प्रयोग तो सड़कों पर आवारा घूम रहे पशुओं व गौधन की संभाल की जा सकती है जिससे इन पशुओं द्वारा प्रतिदिन होने वाली सड़क दुर्घटनाओं, फसलों की क्षति तथा इन पशुओं के जखमी होने के खतरे को टाला जा सकता हैं। खन्ना द्वारा दी गई जानकारी पर आयोग की सस्यया ऐडवोकेट अविनाश कौर वैद ने खन्ना को आश्वासन दिलाया कि वह जल्द इस संबंधी सारा विवरण प्राप्त कर गौधन व अन्य आवारा पशुओं की उचित संभाल की व्यवस्था करवाने का प्रयास करेंगी। इस मौके पर खन्ना के साथ डा. रमन घई, मनोज शर्मा, एडवोकेट नवजिंदर बेदी आदि भी उपस्थित थे।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *