Select Page

आरोपियों और अधिकारियों की जेब से दिया जाए नकली शराब पीडि़त परिवारों को मुआवजा: वीर प्रताप राणा

आरोपियों और अधिकारियों की जेब से दिया जाए नकली शराब पीडि़त परिवारों को मुआवजा: वीर प्रताप राणा

होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (सिमरन)

होशियारपुर : पंजाब में नकली शराब पीकर मरने वालों के परिवारों को दिया जाने वाला मुआवजा आरोपियों और मिलीभगत करने वाले अधिकारियों की जेब से दिया जाए तथा इसके लिए उनकी संपत्तियां भी बेचनी पड़े तो सरकार को यगह कदम भी उठाना चाहिए। क्योंकि, इसमें आम जनता का क्या कसूर हैं तथा जनता के टैक्स के जमा पैसों से यह मुआवजा नहीं दिया जाना चाहिए। यह मांग सफल सफल भारत गुरु परंपरा संस्था के अध्यक्ष वीरप्रताप राणा ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से की। उन्होंने कहा कि नकली शराब के कारोबार को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की जरुरत हैं तथा शराब को जीएसटी के तहत लाया जाना चाहिए ताकि पंजाब शराब माफिया से मुक्त हो।

राणा ने कहा कि यह कोई छोटी घटना नहीं हैं तथा इस सारे मामले की सीबीआई जांच करवाई जानी चाहिए ताकि इस घटना के आरोपियों और मिलीभगत करने वाले अधिकारियों को सजा मिल सकें। उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह से अपील करते हुए कहा कि ऐसी घटना भविष्य में न हो इसके लिए अब की गई सख्ती को कायम रखने की जरुरत हैं। उन्होंने कहा कि नकली एवं अवैध शराब माफिया रोजाना कई घरों को बरबाद कर रहा हैं तथा इस माफिया की कमर तोड़ने के लिए आम जनता को भी जागरुक होना होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की कि वे इस मामले की सीबीआई जांच के आदेश जारी करें और पीडि़तों को जो भी मुआवजा आदि दिया जाना हैं वह आरोपियों और अधिकारियों की संपत्ति बेचकर दिया जाए।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *