Select Page

डेरों व धार्मिक संगठनों ने जिला प्रशासन को दिया हर संभव सहयोग: डिप्टी कमिश्नर

डेरों व धार्मिक संगठनों ने जिला प्रशासन को दिया हर संभव सहयोग: डिप्टी कमिश्नर

होशियारपुर, जनगाथा टाइम्स: (सिमरन)

होशियारपुर : लॉकडाउन के दौरान जिले के धार्मिक डेरों व संगठनों ने अग्रणीय भूमिका निभाते हुए जरुरतमंदों की मदद की और कोविड-19 के फैलाव को रोकने में हर संभव सहायता की हैं। जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने बताया कि डेरा राधा स्वामी सत्संग ब्यास, धन गुरु राम दास साहिब लंगर सेवा सोसायटी के अलावा अन्य कई डेरों व धार्मिक संगठनों ने मिशन फतेह को सार्थक करते हुए कोविड-19 के मुश्किल दौर में प्रशासन को सहयोग करते हुए जरुरतमंदों तक सहायता पहुंचाई हैं।

डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने बताया कि धन गुरु राम दास साहिब लंगर सेवा सोसायटी सेवा स्थान पुरहीरां की ओर से ऐसे मुश्किल हालातों मे की गई लंगर सेवा मानवता की एक अनूठी मिसाल कायम कर गई हैं। उन्होंने कहा कि सेवा सोसायटी की ओर से 24 मार्च से लेकर 30 जून तक रोजाना डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों तक लंगर पहुंचाया गया हैं। उन्होंने बताया कि सेवा सोसायटी के मुख्य सेवादारा बाबा मंजीत सिंह जी व बूटा सिंह जी की ओर से जरुरतमंदों तक लंगर की सेवा पहुंचाई गई। उन्होंने कहा कि सेवा सोसायटी की ओर से अत्याधुनिक तरीके से मशीनों के माध्यम से लंगर तैयार कर लोगों तक पहुंचाने के लिए कई गाडिय़ां लगाई गई थी, जिन्होंने शहर व गांवों के अलग-अलग स्थानों पर जरुरतमंदों तक साफ-सुथरे तरीके से लंगर पहुंचाया गया। उन्होंने कहा कि मानवता की सेवा ही सब से बड़ी सेवा हैं और धन गुरु रामदास जी लंगर सेवा सोसायटी की ओर से ऐसी परिस्थिति के दौरान की गई लंगर सेवा प्रशंसनीय कार्य हैं।

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि डेरा राधा स्वामी सत्संग ब्यास ने भी इस मुश्किल दौर में जिला प्रशासन को पूर्ण सहयोग दिया। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान राधा स्वामी सत्संग घर के सहयोग से जम्मू-कश्मीर से संबंधित व्यक्तियों की रिहायश व खाने का भी विशेष प्रबंध किया गया था। उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर से संबंधित जिले में पहुंचे 107 व्यक्तियों की रिहायश के लिए प्रबंध करवाया गया था, जिनमें से राधा स्वामी सत्संग घर टांडा में 56 व सत्संग घर डेरा राधा स्वामी ब्यास, गांव पलाकी(मुकेरियां) में 51 व्यक्तियों को ठहराया गया था। उन्होंने कहा कि राधा स्वामी सत्संग घर के सहयोग से जहां इनके लिए खाने के अलावा सामाजिक दूरी यकीनी बनाया गया था वहीं संबंधित एस.डी.एम्ज के नेतृत्व में रोजाना मैडिकल भी करवाया जाता था।

अपनीत रियात ने बताया कि सहयोग के साथ-साथ धार्मिक स्थानों की ओर से भी लोगों को मिशन फतेह का संदेश भी दिया गया, जिसमें लोगों को सामाजिक दूरी बरकरार रखने के अलावा मास्क का प्रयोग करने व 20 सैकेंड तक हाथ धोने जैसी सावधानियां अपनाने को कहा गया। डिप्टी कमिश्नर ने लोगों को प्रशासन की ओर से दी जाने वाली हिदायतों का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से शुरु किए गए जागरुकता अभियान मिशन फतेह के अंतर्गत जागरुकता गतिविधियां लगातार जारी हैं।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *