Select Page

भगवान का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए किसी को भी मन, कर्म ,वचन से कष्ट नहीं देना चाहिए -योगाचार्य चंद्र मोहन

भगवान का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए किसी को भी मन, कर्म ,वचन से कष्ट नहीं देना चाहिए -योगाचार्य चंद्र मोहन

होशियारपुर (आशीष सूद ): दीपावली के अवसर पर योग साधन आश्रम मॉडल टाउन में एक समागम का आयोजन किया गया | इस मौके पर योगाचार्य चंद्र मोहन जी ने कहा कि दीपावली का त्यौहार हमें जे शिक्षा देता है कि अगर हम सत्य के मार्ग पर नहीं चलेंगे तो हमारा पतन निश्चित है | उन्होंने कहा कि हम कितने भी ज्ञानी क्यों ना हो अगर हम सच्चे मार्ग पर नहीं चलेंगे तो अंधकार में ही भटकते रहेंगे| उन्होंने कहा कि हमें योग के यम नियमों का पालन करना चाहिए | जो अपने जीवन में इनका पालन नहीं करते वह अधर्म का जीवन जी रहे हैं |लेकिन आज के जीवन में बहुत से लोग बाहर से कुछ और दिखाई देते हैं और भीतर से कुछ और होते हैं| लेकिन परमपिता परमात्मा से कुछ भी छिपा नहीं है |उन्होंने कहा कि जो लोग गलत कार्य करने वालों का साथ देते हैं वह भी अधर्म के मार्ग पर चल रहे हैं | योगाचार्य जी ने कहा कि भगवान का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए हमें किसी को भी मन, कर्म ,वचन से कष्ट नहीं देना चाहिए |इसके अलावा उतना ही संचय करना चाहिए जितना जीवन यापन के लिए जरूरी हो| किसी भी चीज का अधिक होना नुकसान दे होता है |उन्होंने कहा कि हमें अपनी इंद्रियों पर काबू रखना चाहिए |जिस व्यक्ति की इंद्रियां काबू में होती है वह गलत काम कम ही करता है| इससे पहले परंपरा के अनुसार हवन व आरती का आयोजन किया गया | बाद में सभी भक्तों ने आश्रम में दीपमाला की| इस मौके पर बहन अमिता ,किरण जी, लता ,ज्योति आदि ने भजन गाकर सबको मंत्र मुक्त कर दिया|

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *