Select Page

सेंट सोल्जर ग्रुप का यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज कनाडा के साथ करार

सेंट सोल्जर ग्रुप का यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज कनाडा के साथ करार
जनगाथा / होशियारपुर/ शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाते हुए उत्तर भारत के अग्रणी शैक्षिक समूह सेंट सोल्जर ग्रुप ऑफ इंस्टीच्यूशन्स द्वारा यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज जो कि कनाडा की सर्वोच्च पब्लिक यूनिवर्सिटीज में से एक है, के साथ करार किया जो कि पंजाब और चंडीगढ़ के छात्रों के लिए एक खुशखबरी बनकर सामने आ रहा है। यह करार यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज, कनाडा के प्रेजिडेंट और वाईस चांसलर डॉ.माइक माहोन और सेंट सोल्जर ग्रुप के प्रो-चेयरमैन प्रिंस चोपड़ा द्वारा यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (इंटरनैशनल) एवं सेंट सोल्जर ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्टर प्रो.मनहर अरोड़ा की उपस्थिति में संयुक्त रूप से हस्ताक्षर करते हुए किया गया। 
सेंट सोल्जर द्वारा आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में प्रो-चेयरमैन प्रिंस चोपड़ा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज, कनाडा के कोर्स भारत में छात्रों को उपलब्ध करवाने के लिए सेंट सोल्जर इंस्टीच्यूट ऑफ़ इंटरनैशनल स्टडीज की शुरुयात की गई है। जिसमें इस वर्ष से 10+2 पास छात्रों को दो प्रोग्राम बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट और बीएससी इन कंप्यूटर साइंस में दाखिले दिए जाएगे।
मीडिया को संबोधित करते हुए सेंट सोल्जर के चेयरमैन अनिल चोपड़ा ने कहा कि भारत और कनाडा में व्यापार, संस्कृति, पर्यटन और प्रौद्योगिकी के मजबूत संबंध हैं। उसी दिशा और दृष्टि में, हम एक अग्रणी शैक्षिक समूह सेंट सोल्जर ग्रुप ऑफ़ इंस्टीच्यूशन्स के रूप में कनाडा की सबसे प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज के साथ हाथ मिलाया है।
यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज कैनाडा के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर पॉल पेन ने मीडिया को विस्तार से बताते हुए कहा कि “हम जिस प्रकार की शिक्षा छात्रों को कनाडा में में प्रदान करते है बिलकुल उसी प्रकार की शिक्षा भारत के छात्रों को प्रदान करने के लिए हमने सेंट सोल्जर ग्रुप के साथ संयुक्त करार किया है। जो छात्र सेंट सोल्जर इंस्टीच्यूट ऑफ़ इंटरनैशनल स्टडीज में अपने पहले वर्ष की शिक्षा प्राप्त करता है उन्हें (बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट और बीएससी इन कंप्यूटर साइंस) में सीधा दूसरे वर्ष में एडमिशन मिलेगी। यूनिवर्सिटी ऑफ़ लेथब्रिज में ग्रेजुएशन कोर्स चार वर्षीय होता है और इस समझौते के अनुसार जो छात्र सेंट सोल्जर में बैचलर ऑफ़ मैनेजमेंट और बैचलर ऑफ़ साइंस में एडमिशन लेते है उस यहाँ बिलकुल उसी प्रकार पढाई करवाई जाएगी जिस लेथब्रिज में एडमिशन लेने वाले छात्र को करवाई जाएगी।
सेंट सोल्जर की वाईस चेयरपर्सन श्रीमती संगीता चोपड़ा ने बताया कि यह समझौता डायरेक्ट ट्रांसफर पर आधारित है। इस डायरेक्ट ट्रांसफर विधि के माध्यम से, छात्र को लेथब्रिज (आवश्यकता की पुष्टि करने के बाद) में दूसरे वर्ष में प्रवेश का आश्वासन दिया जाएगा। छात्र को लेथब्रिज में पहले वर्ष की पढाई   फिर से दुहराने की आवश्यकता नहीं होगी और छात्र को क्रेडिट ट्रांसफर की प्रक्रिया से गुजरने की जरूरत भी नहीं होगी।
सेंट सोल्जर के मैनेजिंग डायरेक्टर प्रो.मनहर अरोड़ा ने कहा कि सेंट सोल्जर इंस्टीच्यूट ऑफ़ इंटरनैशनल स्टडीज में पढाई करने से छात्रों को पैसों के खर्च में भारी बचत होगी। छात्रों को काउंसलिंग और वीज़ा फाइल के तैयारी के लिए छात्रों को मदद मिलेगी।
इस इंस्टीच्यूट में पढाई करते वाले छात्रों को मुफ्त आईलेटस की कोचिंग और सिखलाई का लाभ प्राप्त होगा जो कि इंटरनैशनल सिलेबस में शामिल है और उन फैकल्टी मेंबर्स को रखा गया जिनके पास अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा का अनुभव है। सेंट सोल्जर इंस्टीच्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज में पढाई के समय कैनेडियन ट्रेनिंग का एक्सपीरियंस का भी फायदा होगा। अकादमिक कोर्सेज के अतिरिक्त, छात्रों की पर्सनॅलिटी को बेहतर बनाने के लिए विशेष ध्यान दिया जाएगा।        इस अवसर पर गुलशन शर्मा और फैकल्टी मेंबर्स उपस्थित रहे।

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *