Select Page

जरुरमंदों तक पहुंचाई जाएंगी डा. अंबेडकर फाउंडेशन की ओर से शुरु की गई स्कीमें: जिलाधीश

जरुरमंदों तक पहुंचाई जाएंगी डा. अंबेडकर फाउंडेशन की ओर से शुरु की गई स्कीमें: जिलाधीश

जनगाथा / होशियारपुर / जिलाधीश श्री विपुल उज्जवल ने कहा कि सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार की ओर से संचालित डा. अंबेडकर फाउंडेशन की ओर से अलग-अलग स्कीमों के अंतर्गत दी जा रही सुविधाओं को जरुरतमंदों तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। वे आज डा. अंबेडकर फाउंडेशन के सदस्य मंजीत बाली के नेतृत्व में स्वंय सहायता समूहों के साथ की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि फाउंडेशन की ओर से एससी/ एसटी परिवारों के जरुरतमंद व्यक्तियों को गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने के लिए विशेष स्वास्थ्य सुविधाएं दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि फाउंडेशन की ओर से सर्जरी के लिए 1.25 लाख, किडनी सर्जरी/डायलसिज के लिए 3. 50 लाख कैंसर सर्जरी/कीमोथैरेपी के लिए 1.75 लाख, दिमाग की सर्जरी के लिए 1.50 लाख, किडनी/ अंग रिपलेसमेंट के लिए 3.50 लाख, रीढ़ की सर्जरी के लिए 1 लाख व अन्य गंभीर बीमारियों के लिए 1 लाख संबंधित अस्पताल को चैक या ड्रा ट के माध्यम से दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसी तरह 10वीं व 12वीं कक्षा के होनहार छात्रों को नकद पुरस्कार दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले तीन सब से अधिक अंक हासिल करने वाले छात्रों को क्रमवार 60 हजार, 50 हजार व 40 हजार दिए जाते हैं। बोर्ड में सबसे अधिक नंबर लेने वाली छात्रा को उक्त राशि के अलावा 20 हजार रुपये अतिरिक्त दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि देश व विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए भी फाउंडेशन की ओर से विशेष सहायता की जा रही है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में यह योजनाएं एक वरदान साबित होंगी।

जिलाधीश ने कहा कि अंर्तजाती विवाह संबंधी भी डा. अंबेडकर योजना बनाई गई है व इस योजना का उद्देश्य अंर्तजाती विवाह को विशेष महत्व देना है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत 2.50 लाख रुपये देने की योजना है। जिसके अंर्तगत योग जोड़े को हौंसला आफजाई रकम का 50 प्रतिशत ड्रा ट के माध्यम से दिया जाएगा जबकि बाकी 50 प्रतिशत जोड़े के नाम पर फिक्स डिपाजिट करने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि महान संतों के जन्मदिवस पर भी विशेष योजना शुरु की गई है। महान संतों के जन्मदिवस समारोह मनाने के लिए विशेष वित्तिय सहायता दी जा रही है। यूनिवर्सिटी/ कालेजों के लिए अधिक से अधिक अनुदान राशि 5 लाख रुपये व एनजीओज के लिए 2 लाख रुपये राशि निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि एनजीओ तक पहुंचाएं ताकि जरुरतमंद व्यक्तियों को इन सुविधाओं का फायदा मिल सके। उन्होंने डा. अंबेडकर फाउंडेशन व एकत्र एनजीओज को भरोसा दिलाया कि जिला प्रशासन एससी/एसटी वर्ग तक अलग-अलग स्कीमें पहुंचाने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने बताया कि स्कीमों संबंधी अधिक जानकारी के लिए जिला भलाई अधिकारी कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है।

डा. अंबेडकर फाउंडेशन के सदस्य श्री मंजीत बाली ने कहा कि डा. अंबेडकर स्वास्थ्य सहायता स्कीम अंतर्गत जिस व्यक्ति की पारिवारिक आय एक लाख से कम हो व उसको गंभीर बीमारियां किडनी, गुर्दे, कैंसर, घुटने व रीढ़ की सर्जरी सहित अन्य गंभीर बीमारियां जिसमें सर्जीकल आप्रेशन की जरुरत हो तो, वह भी इसका फायदा उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत लाभार्थी को जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड की फोटो कापी व संबंधित अस्पताल की ओर से एस्टीमेट आदि देने जरुरी होंगे। उन्होंने कहा कि इलाज के लिए एस्टीमेट लागत का 100 प्रतिशत सर्जरी से पहले ही संबंधित अस्पताल को एक किश्त में जारी किया जाता है। उन्होंने एनजीओज को अपील करते हुए कहा कि शुरु की गई योजनाओं संबंधी लोगों को अधिक से अधिक जागरुकता फैलाई जाए ताकि जरुरतमंद व्यक्ति इन स्कीमों से वंचित न रह सकें।

इस मौके पर एडीसी(सामान्य)श्रीमति अनुपम कलेर, डीएसपी(मु यालय) श्री जंग बहादुर सिंह, जिला भलाई अधिकारी श्रीमति कमलजीत कौर राजू, जिला शिक्षा अधिकारी(सेकेेंडरी) श्री मोहन सिंह लेहल, जिला सामाजिक सुरक्षा अधिकारी श्री जगदीश मित्तर के अलावा जिले से संबंधित एनजीओज उपस्थित थी।

—-

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.