Select Page

चीन को सबक सिखाने के लिए चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करे हर भारतीय: मनीष गुप्ता

चीन को सबक सिखाने के लिए चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करे हर भारतीय: मनीष गुप्ता

जनगाथा , होशियारपुर । चीन वैसे तो भारत का दोस्त होने का दम भरता है, मगर मौका पाते ही भारत के खिलाफ खड़ा हो जाता है तथा पाकिस्तान को आतंकवाद को लेकर बढ़ावा देने उसकी नीति रही है। एक तरफ तो वह भारत में अपने उत्पाद निर्यात करके चीन अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में लगा है तो दूसरी तरफ भारत के किसी अन्य देश के साथ संबंध मजबूत होने पर दुश्मन होने का संकेत देता है। इसलिए चीन की दोगली नीतियों का जवाब देने के लिए हर भारतीय का फर्ज बनता है कि वे चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करे ताकि चीन को सबक सिखाया जा सके। उक्त बात शालीमार वैल्फेयर सोसायटी एवं मां भारती सेवा सोसायटी के अध्यक्ष समाज सेवी इंजी. मनीष गुप्ता ने आज यहां जारी एक प्रैस विज्ञप्ति में कही। श्री गुप्ता ने कहा कि चीन ने भारत के साथ सदैव ही धोखा किया है तथा भारत-चीन सरहद पर भी चीन द्वारा अकारण ही विवाह किया जाता है। चीनी वस्तुओं का सबसे बड़ा निर्यारत भारत है तथा भारतीय बाजार के दम पर ही चीन अपनी अर्थ व्यवस्था को और मजबूत करने में लगा है। परन्तु यहां से कमा कर अपने देश को मजबूत करने के साथ-साथ चीन द्वारा भारत के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध कायम नहीं रखे जा रहे। इसलिए अब समय आ चुका है कि भारत सरकार व भारतीय पूरी तरह से चीनी वस्तुओं के निर्यात व उपयोग का बहिष्कार करें। ऐसा होने पर चीन की आर्थिक व्यवस्था पूरी तरह से चर्मारा जाएगी और उसे मुंह की खानी पड़ेगी। यह तभी संभव है जब हम सभी चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करके स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाएंगे। श्री गुप्ता ने कहा कि एक समय था जब आजादी की जंग में भारतीयों ने विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार करके देश के प्रति अपनी एकजुटता का प्रमाण दिया था और एक समय आज है जब हमें चीनी वस्तुओं का बायकाट करना है। इसलिए उनकी सभी देश वासियों से अपील है कि वो देश हित व चीन को सबक सिखान के लिए पूरी तरह से चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करें और व्यपारियों एवं दुकानदारों से भी अपील है कि वो भी अपनी दुकानों पर चीनी वस्तुएं बिक्री के लिए न रखें।
फोटो:- मनीष गुप्ता।ह पंजीकरण काउंटर निगम में स्थापित करने हेतु करेंगे प्रयास:पार्षद निपुण शर्मा

About The Author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *