हिरासत के बाद छोड़े गये राहुल, बोले- यह कैसा हिंदुस्तान बनाया जा रहा है?

    0
    29
    नई दिल्ली: कम पेंशन की वजह से पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की खुदकुशी को लेकर दिल्ली में हंगामा हो रहा है.  राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को हॉस्पिटल के बाहर ही रोक लिया गया जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया, बाद में छोड़ दिया गया. वह पूर्व सैनिक के परिवार से मिलने पहुंचे थे. राहुल को मंदिर मार्ग थाने ले जाया गया. इतना ही नहीं सैनिक के बेटा को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया.
    राहुल ने कहा, ‘’यह कैसा हिंदुस्तान बनाया जा रहा है जहां किसी को पीड़ित परिवार से नहीं मिलने दिया जा रहा है.’’ राहुल ने कहा कि इस देश में अलोकतांत्रिक तरीका अपनाया जा रहा है है.
    वहीं पत्रकारों से बात करते हुए राहुल ने बताया कि उन्हें अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है. लेकिन उन्हें जानकारी मिली है कि पीड़ित परिवार उनसे मिलने के लिए बाहर आ रहा है. राहुल गांधी काफी देर तक हॉस्पिटल के गेट नंबर 5 पर खड़े रहे.
    वहीं इससे पहले दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया सैनिक के परिवार वालों से मिलने राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल पहुंचे थे, लेकिन यहां पुलिस से झड़प हो गई, पुलिस ने थोड़ी देर के लिए सिसोदिया को हिरासत में ले लिया.
    बता दें कि राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के बाहर सिसोदिया और दिल्ली पुलिस में झड़प हो गई थी, जिसके बाद पुलिस ने सिसोदिया को हिरासत में ले लिया था.
    ओआरओपी के लिए पूर्व सैनिक ने की खुदकुशी
    सैनिकों से जुड़ी वन रैंक वन पेंशन योजना के लागू होने के बाद कम पेंशन मिलने की शिकायत पर एक पूर्व सूबेदार ने कथित तौर पर खुदकुशी कर ली और ऐसा तब किया जब वो इस मुद्दे पर अपने साथियों के साथ रक्षामंत्री को ज्ञापन सौंपने जाने वाले थे. पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया था.
    दरअसल, रामकिशन सरकार की वन रैंक वन पेंशन स्कीम के तहत अपनी पेंशन और भत्ते बढ़ाने की मांग कर रहे थे और कई पूर्व सैनिकों के साथ दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना दे रहे थे. परिजनों की मानें तो वो अपने साथियों के साथ रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर से मिलने जा रहे थे लेकिन बीच में ही जहर खा लिया. उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन जान नहीं बचाई जा सकी.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here