हत्या के आरोपियों को क्या मिली सजा , जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

    0
    36

    होशियारपुर  . एडिशनल व सैशन जज एन.एस गिल की अदालत ने हत्या करने के आरोप में दो दोषियोंunnamed-4unnamed-3 को अजीवन करावास की सजा व दस दस हजार रूपये जुर्माने की सजा सुनाई जबकि हत्या का प्रयास करने के आरोप में भी उक्त दोनों दोषियों को चार चार साल कैद और चार चार हजार रूपये जुर्माने की सजा सुनाई हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 6 मार्च 2015 को होली वाले दिन मोबाईल चुराने के शक में तीन युवकों में आपसी बहस बाजी हुई जिसमें से दो युवकों ने एक युवक के सिर पर पत्थर मार कर उसे मौत के घाट उतार दिया था, एक अन्य युवक जो इन्हें बचाने आया उस पर हमला कर उसे भी मारने की कोशिश की थी। जिसके बाद पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ हत्या व हत्या के प्रयास के आरोप में मामला दर्ज किया था। पुलिस ने ये मामला सिकंदर ऋषि के ब्यानों के आधार पर रविंदर निवासी बिहार और चंदन कुमार उर्फ संजू निवासी बिहार के खिलाफ मामला दर्ज किया था। सिकंदर ने पुलिस को बताया था कि उसके मामे का लडक़ा सुजीत कुमार उक्त दोनों के साथ काम करता था और सुजीत का मोबाईल चोरी हो गया था जिसके बाद सुजीत (19) की रविंदर और चंदन के साथ बहस बाजी भी हुई थी। उसने बताया था कि तीनों एक फैक्टरी में काम करते थे। उसने बताया वो तीन एक लंगर पर गए थे जब वो काफी देर तक लंगर से वापिस नहीं लौटे तो वो भी लंगर वाली साईड पर चला गया जब वो उन्हें वहां नहीं मिले तो वो सडक़ किनारे एक आम के पेड़ के पास पहुंचा जहां रविंदर ने सुजीत को पकड़ा था और चंदन कुमार उर्फ सुजीत के सिर पर पत्थर मार था। जब उसने रोकने की कोशिश की और उन दोनों ने उस पर भी मारने की नियत से हमला कर दिया। उसने बताया अगले दिन गांव में शोर मच गया कि एक हवेली के पास अज्ञात लाश मिली है जब वो वहां गया और पहचान की तो उसने देखा  की वो सुजीत का शव था जिसके बाद उसने बुल्लोवाल पुलिस को सुचित किया और मामले संबंधी बताया जिसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ  हत्या और हत्या के प्रयास के आरोप में मामला दर्ज किया था। जिन्हें आज एडिशनल व सैशन जज एन.एस गिल की अदालत ने हत्या करने के आरोप में दो दोषियों को अजीवन करावास की सजा व दस दस हजार रूपये जुर्माने की सजा सुनाई।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here