सोशल मीडिया के माध्यम से घर लौटा दमनप्रीत

    0
    15

    होशियारपुर। चब्बेवाल के नजदीकी गांव चक्क मल्लां से 17 नवंबर से लापता हुआ बच्चा सोशल मीडिया के माध्यम से मिल गया है। पुलिस ने बच्चे को मध्यप्रदेश के रतलाम से बरामद करके परिजनों को सौंप दिया है। जानकारी अनुसार गांव चक्क मल्लां निवासी नौंवी कक्षा का छात्र दमनप्रीत 17 नवंबर को घर से खेलने गया था। परन्तु घर नहीं लौटा। इस पर उसके पारिवारिक सदस्यों ने तुरंत इसकी सूचना चब्बेवाल पुलिस को दी। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बच्चे के गुम होने की सूचना संबंधित थानों को की और सोशल मीडिया के माध्यम से भी बच्चे को ढूंढने का आह्वान किया। उसके परिजनों ने बताया कि दमनप्रीत घूमने फिरने का शौकीन है तथा घर से घूमता हुआ किसी तरह से जालंधर पहुंच गया। जहां पर उसे एक व्यक्ति मिला जो उसे घूमाने के बहाने अपने साथ गोल्डन टैम्पल ट्रेन में बिठाकर ले गया। इसके बाद उसने ट्रेन में खाना खाया और सो गया। जब वह सुबह उठा तो उसने खुद को रतलाम रेलवे स्टेशन पर पाया। वहां रेलवे स्टे्शन पर घूमते समय जब रेलवे पुलिस की नजऱ बच्चे पर पड़ी तो उन्होंने उससे पड़ताल की। इसके उपरांत रतलाम रेलवे पुलिस ने सोशल मीडिया पर लापता बच्चे की तस्वीर के साथ बच्चे का चेहरा मिलाया तो उन्होंने तुरंत इस संबंधी होशियारपुर पुलिस के साथ संपर्क किया। इसके बाद होशियारपुर पुलिस ने एस.एस.पी. कुलदीप सिंह चाहल के निर्देशों पर तुरंत पुलिस पार्टी को बच्चा लाने के लिए रतलाम रवाना किया और बच्चे को होशियारपुर लाकर परिजनों को सौंप दिया है। परिजनों ने सोशल मीडिया और होशियारपुर पुलिस का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सोशल मीडिया उनके लिए वरदान साबित हुआ है। थाना चब्बेवाल के पुलिस प्रभारी राजेश कुमार ने उक्त घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए बताया कि सोशल मीडिया आज बहुत बड़ा रोल अदा कर रहा है तथा उसी की बदौलत और एस.एस.पी. द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए पुलिस बच्चे को ढूंढने में सफल हो पाई है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here