सरकारी स्कूल में एक तरफ चल रहा था दंगल , दूसरी ओर शराब का दौर

    0
    25

    सरकारी स्कूल में एक तरफ चल रहा था दंगल , दूसरी ओर शराब का दौर
    होशियारपुर। दलजीत अजनोहा—यहां सरकार की ओर से खेलों को बढ़ावा देने और स्कूलों में नशे पर पाबंदी बहुत ही सख्त आदेशों पर की जा रही है कुछ समाज विरोधी अनसर जिन्हें शायद अपनी नौजवान पीढ़ी नशे रहित और खेलों में बढिय़ा प्रदर्शन कर रही अच्छी नहंीं लग रही वह क्या कर रहे है इसकी उदाहरण मिली गांव भून्नो के सरकारी एलीमैटरी स्कूल में से जब विद्यार्थी और स्टाफ सकूल आए ।
    हुआ यु कि गांव भून्नो के पंचायत, नगर निवासी और प्रवासी भारतीय सभी मिलकर गांव में छिंज मेला हर वर्ष करवाते है इस वार भी उन्होने छिंज मेला करवाया यहां गांव में एक और पूरे राज्य से आए पहलवान अपनी कुश्ती का बहुत अच्छा और प्रभावशाली प्रदर्शन कर रहे थे दूसरी ओर सरकारी एलीमैटरी स्कूल में कुछ समाज विरोधी अनसर मीट शराब आदि का भरपूर सेवन कर रहे थे और स्कूल में बच्चों को शिक्षा देने वाले नशों के खिलाफ लिखे माटोज की भी उलटा सीधा लिख कर उन्हें सेवन करना कर दिया था
    जब प्रात बच्चे और सटाफ सकूल पहुचे तो भोचक के रह गए क्योंकि स्कूल के पूरे प्िरसर में समाज विरोधी अनसरों की ओर से जगह जगह मीट के टुकडे, शराब की बोतलें ओर अन्य समान विखेरा पड़ा था जिसे बच्चों और अध्यापकों ने मिलकर साफ किया
    इस सबंध में स्कूल स्टाफ कमलजीत कौर और सर्बजीत सिंह ने बताया कि छिंज मेला कमेटी के प्रबंधक नंबरदार करनैल सिंह के कहने पर बलबीर सिंह बीरु स्कूल के मुख्य दरवाजे की चाबी छिंज के कारण लेकर गया था और छिंज समाप्त होने के पश्चात किसी ने स्कूल के दरवाजे पर ताला भी नही लगाया बल्कि स्कूल परिसर में लोग गंदगी डालकर चले गए ।
    गांव के सरपंच दर्शन सिंह ने इस घटना के बारे कहा कि इस तरह स्कूल में करना शोभा नहीं देता परन्तु गांव के ही कुछ लोग स्कूल को बदनाम करना चाहते है
    ब्लाक प्राईमरी सकूल अफसर भगवंत राय ने इस घटना के सबंध में कहा कि अगर छिंज कमे्टी ने स्कूल की चाबी ली थी तो उन्हे स्कूल में सफाई करवानी चाहिए थी स्कूल में नशे सेवन करेना गलत है और कानूनी जुर्म भी है
    फोटो—पांच
    सकूल परिसर में विखरे पडे मीट की हडिया, खाली शराब की बोतले और अन्य संामान

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here