समाज में सबसे पवित्र संस्कार है विवाह संस्कार: संजीव अरोड़ा

    0
    10

    JANGATHA/ होशियारपुर। भारत विकास परिषद की तरफ से जरुरतमंद लड़की की शादी हेतु राशन सामग्री भेंट की गई। इस मौके पर भारत विकास परिषद के अध्यक्ष प्रमुख समाज सेवी संजीव अरोड़ा ने कहा कि हम सभी सामाजिक प्राणी हैं और हम समाज द्वारा बनाई गई परंपराओं में बंधे हुए हैं। इसलिए हमें सामाजिक सौहार्द और संस्कृति पर चलते हुए परंपराओं का निर्वाह भी करना चाहिए ताकि हमारी आने वाली पीढ़ीयों को हमारी संस्कृति और संस्कारों का पता चला सके। इन्हीं संस्कारों में एक संस्कार है विवाह संस्कार। जिसे एक उत्सव एवं समर्था के अनुसार करने की परंपरा है। परन्तु समाज में आज भी कई लोग ऐसे हैं जो आर्थिक तौर से कमजोर होने के चलते अपनी परंपराओं को निभाने में असमर्थ हैं। इसलिए हम सभी का फर्ज बनता है कि हम ऐसे परिवारों की मदद के लिए आगे आएं और अपनी बेटियों का विवाह धूमधाम से करने में सहयोग दें ताकि जरुरतमंद परिवार समस्त परंपराओं का निर्वाह कर सके। उन्होंने समाज के हर वर्ग से अपील की कि वे जरुरतमंद परिवार की कन्याओं के विवाह पर मदद करने हेतु आगे आए और वर पक्ष से भी उन्होंने निवेदन किया कि वे बधु पक्ष की कमजोरी पर उसका उपहास न उड़ाए, क्योंकि हमारे शा कहते हैं कि जिसने बेटी दे दी उससे बड़ा दानी और कोई नहीं होता। इसलिए हमें बेटी धन का स मान करते हुए एक दूसरे को सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर परिषद के पूर्व प्रधान जगमीत सिंह सेठी, सचिव दीपक मेहंदीरत्ता व राजिंदर मोदगिल ने कहा कि परिषद का हर सदस्य अपने पांच सूत्रों में बंधा है और उन्हीं पर चलते हुए मानवता की सेवा के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के साथ जुड़कर भी परिषद कई प्रकल्प चला रही है। इस मौके पर दविंदर अरोड़ा, एच.के. नकड़ा, तिलक राज शर्मा, रविंदर भाटिया, विनोद पसान, कुलवंत सिंह पसरीचा, ओंकार सिंह, दीपक वशिष्ट, तरसेम मोदगिल, राज कुमार मलिक, शाम सुन्दर नागपाल, अमरजीत शर्मा, मास्टर गुरप्रीत सिंह, दविंदर सरीन, संजीव खुराना, विपन शर्मा, पंडित सतीश मिश्रा सहित अन्य सदस्य मौजूद थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here