सन्त निरंकारी चेरिटेबल फाउंडेशन रक्तदान शिविर का उद्धाटन कुमारी सौमिया (आईपीएस) ने किया।

    0
    8

    JANGATHA/ राजगढ़/  सतगुरु माता संविदर हरदेव जी महाराज कि कृपा से सन्त निरंकारी चेरिटेबल फाउंडेशन द्वारा स्थानीय सन्त निरंकारी सत्संग भवन राजगढ मेंरक्तदान शिविर लगाया गया। रक्तदान शिविर में  128  श्रद्वालुओं ने रक्तदान किया, जिनमें 18 महिलाएं भी शामिल थी।

    रक्तदान शिविर का उद्धाटन कुमारी सौमिया संबासीवन (आई पी एस)एस0 पी0 सिरमौर हिमाचल ने किया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि सन्त निरंकारी मिशन काविश्व के समाजिक कार्यो में महत्वपूर्ण स्थान रहा है। मिशन के अनुयाई निष्काम सेवा व समाजिक कार्यो द्धारा समाज में भरपूर योगदान देकर एक उद्धाहरण प्रस्तुतकर रहे है। इस अवसर पर डी0 एस0 पी0 सिरमौर भी मौजूद थे ।

    सन्त निरंकारी मंडल, चंडीगढ़ जोन के जोनल इंचार्ज डा0 बी0एस0 चीमा ने रक्तदाताओं और आए हुए श्रद्वालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि सतगुरू बाबा हरदेवसिंह जी महाराज के संदेश “खुन नालियो में  नही नाडि़यो में बहना चाहिए” को सार्थक रुप देते हुए और इसी लड़ी को आगे बढ़ाते हुए वर्तमान सतगुरु माता संविदरहरदेव जी महाराज भी संसार में शांति, भाईचारा व एकत्व स्थापित कर रहे है।  सतगुरु माता जी मानव को ईश्वर की जानकारी करवाकर एक दूसरे से जोड़ने का कार्यकर रहै है।

    स्थानीय ब्रांच के संयोजक भोलानाथ साहनी ने डॉ0बी0एस0चीमा जोनल इंचार्ज चण्डीगढ़ जोन ,श्रीमति जे0 के0 चीमा अतिरिक्त जोनल इंचार्ज चण्डीगढ़ जोन, श्रीएस0एल0बासी पंचकूला क्षेत्र के क्षेत्रीय संचालक एवं आस पास के क्षेत्र की आई संगतों का अभिवादन किया। उन्होने कहा कि सतगुरू का संदेश ही मानव को मानव सेजोड़ना है ओर इसका एक सर्वोपरि साधन है – रक्तदान।

    क्षेत्रीय संचालक पंचकूला क्षेत्र एस0एल0बासी ने कहा कि यह तो श्रद्वालुओं का गुरू के प्रति स्नेह ही है कि वो रक्तदान जैसे महादान में सेवा करने के लिए सदैव तत्पररहते है।

    इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज शिमला की 6 सदसीय टीम ने डॉ  विक्टौरिया माही सीनियर ऑफिसर के नेतृत्व में रक्त एकत्रित किया। डॉ0 माही ने निरंकारी मिशनद्वारा किए जा रहे प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि जिस प्रकार मानवता की सेवा के नजरीए से अपने श्रद्वालुओं को प्रेरणा देता है, वो अति सराहनीय है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here