शादी वाले घरों के लिए सप्ताह में पैसे देने के लिए विशेष दिन तय करे आर.बी.आई. – एडवोकेट जैरथ

    0
    25

    विवाह के लिए ढाई लाख रु पए निकलवाने के आदेश का जमीनी स्तर पर फायदा शून्य
    होशियारपुर, जबसे केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा 500 व 1000 के नोट को निरस्त किया गया है तबसे जमीनी स्तर पर आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में जनता को आ रही दिक्कतों के बारे में केन्द्र व पंजाब सरकार को जल्द प्रभावी कदम उठाने चाहिए। उक्त शब्द समाज सेवक व आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य एडवोकेट नवीन जैरथ ने आज स्थानीय स्टेट बैंक के समक्ष पंक्ति में खड़े कई सीनियर सिटिजन से बातचीत करते हुए कहे। उन्होंने कहा कि इस समय सबसे बड़ी समस्या उन लोगों के लिए है जिनके घरों में आने वाले दिनों में शादीयां होने वाली हैं। इन लोगों ने एडवोकेट जैरथ से बातचीत में बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा विवाह के लिए ढाई लाख रु पए बैंक से निकलवाने की जिस सुविधा का जोर शोर से प्रचार किया जा रहा है जमीनी स्तर पर उस पर कोई अमल नहीं हो रहा। इस संबंधी जैरथ द्वारा जब कुछ बैंक कर्मियों से बातचीत की गई तो उन्हें बड़ी हैरानी हुई जब उन्हें बताया गया कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से अभी ऐसे कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए। जैरथ ने कहा कि इसके बाद उन्होंने तुरंत ई-मेल द्वारा प्रधानमंत्री व वित्त मंत्री को इस संबंधी जरू री आदेश सभी बैंकों को तुरंत भेजने की अपील की। उन्होंने कहा कि वास्तिविक रू प से यदि लोगों को आ रही इस समस्या का हल करना है तो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को सभी बैंकों को निर्देश देने चाहिए कि जिसके घर में शादी है वह सप्ताह के किसी विशेष दिन इस सुविधा का पहल के आधार पर लाभ ले सकते हैं और वह शादी के संबंध में कोई दस्तावेज दिखाकर बैंक से पैसे निकलवा सकें। लोगों से अपील करते हुए जैरथ ने कहा कि वह भी चैक द्वारा या ऑनलाईन बैंक के खाते में पेमैंट जमा करवाने की सुविधा का अधिक से अधिक प्रयोग करें। ऐसी ही सुविधा बैंकों द्वारा सीनियर सिटिजन व महिलाओं को भी देनी चाहिए।
    फोटो-स्थानीय स्टेट बैंक के सामने पंक्तियों में खड़े लोगों से बातचीत करते हुए समाज सेवक व ‘आप’ नेता एडवोकेट नवीन जैरथ।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here