लंगर सेवा के लिए आइ-कार्ड जरुरी !

    0
    9
    punjab page;Devotees partake of langar at the Golden Temple in Amritsar.photo The Tribune

    जनगाथा। अमृतसर। श्री हरिमंदर साहब आए श्रद्धालु को नशीली चीज सुंघा कर बेहोश कर लूटने की घटना के बाद शिरोमणि कमेटी ने हरिमंदर साहब समूह और खास करके गुरू रामदास लंगर घर में चौकसी बढ़ा दी है। घटना का गंभीर नोटिस लेते हुए गुरू रामदास लंगर घर में बिना आइ कार्ड (शिनाखती पत्र) सेवा करने पर रोक लगा दी है ।
    लंगर घर में रोजाना ही 6 से 7 घंटे के लिए सेवा करने वाले कुछ लोगों को छोडक़र हर व्यक्ति के लिए आइ-कार्ड लाजमी कर दिया गया है । लंगर घर में सेवा करने वाले व्यक्ति को अपना नाम और पता यहां रजिस्टर पर नोट करवाना पड़ेगा और अपनी निजी शिनाखती कार्ड भी जमा करवाना पड़ेगा । जो वह सेवा के उपरांत वापस ले सकता है । मैनेजर ने बताया कि संगत को चौकस करने के लिए सराएं और लंगर घर में एलान कराया जाता है कि किसी भी अजनवी व्यक्ति से कोई भी चीज न लेकर खाएं ।
    अमले में दस दस व्यक्तियों की डयूटी लगाई गई है जो कि सादे कपड़ों में हर तरफ निगरानी रखेंगे और संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ कर सकते है । इसी तरह मंजी साहब दीवान हाल में भी पांच रिटायर्ड फौजी तैनात कर दिए गए है । उन्होंने बताया कि निगरानी कराण पिछली दिनी मोटरसाइकिल चोरी करने वाले व्यक्ति को काबू कर लिया गया था इसके अलावा लंगर घर में सीसीटीवी कैमरों द्वारा भी चौकसी बढ़ा दी है ।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here