करणी सेना ने विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से निकाली तिरंगा यात्रा, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की मांग

    0
    18
    होशियारपुर (रुपिंदर )। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामैड़ी द्वारा जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री फारुख अब्दुल्ला द्वारा किसी भारतीय द्वारा लाल चौक में झंडा फहराने के चैलेंज को कबूल करते हुए लाल चौक में झंडा फहराकर भारत माता के वीर सपूतों की ताकत दिखाई है उससे पूरा भारत देश गौरवांवित हुआ है। इस सफलता के उपलक्ष्य में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेवा होशियारपुर की तरफ से अध्यक्ष लक्की ठाकुर की अध्यक्षता में तिरंगा यात्रा निकाली गई। जिसमें विभिन्न संस्थाओं की तरफ से विशेष सहयोग दिया गया। इस मौके पर नई सोच के अश्विनी गैंद एवं राष्ट्रीय हिन्दू शिव सेना से कमल शर्मा कोठारी अपने साथियों सहित शामिल हुए।
    तिरंगा यात्रा शहीद भगत सिंह चौक, चंडीगढ़ से प्रारंभ हुई। यहां पर यात्रा प्रारंभ करने से पहले समस्त पदाधिकारियों ने शहीद भगत सिंह के बुत पर फूल मालाएं अर्पित की और भारत माता की जयघोष के नारे लगाए। इसके उपरांत यात्रा प्रारंभ हुई। जोकि माहिलपुर अड्डा चौक, सैशन चौक, रेलवे रोड़, घण्टाघर, भगवान वाल्मिकि चौक, कमालपुर चौक से होती हुई महाराणा प्रताप चौक पर पहुंचकर विश्रामित हुई। यहां पर लक्की ठाकुर एवं अन्य सदस्यों ने भारत माता के वीर सपूत महाराणा प्रताप को नमन किया।
    इस अवसर पर लक्की ठाकुर ने कहा कि भारत में एक संविधान लागू होना चाहिए। जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है जिसके तहत केन्द्र सरकार को जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को जल्द से जल्द हटाना चाहिए। उन्होंने कहा कि तिरंगा हम भारतीयों की आन-बान और शान का प्रतीक है तथा हमारा सारा जीवन इसकी शान को बरकरार रखने के लिए पूरी तरह से समर्पित है। उन्होंने युवा वर्ग को देशहित में कार्य करने और तिरंगे की आन को कायम रखने का आह्वान किया। इस दौरान युवा अध्यक्ष अश्विनि ठाकुर जंगली ने युवाओं को प्रेरित करते हुए कहा कि हारे लिए तिरंगा ही सबकुछ है और यह हमें देश भक्तों की याद दिलाता है तथा इसके तीनों रंग हमें एकता एवं अखण्डता का पाठ पढ़ाते हैं। इसलिए सभी भारत वासियों को इसका सम्मान करना चाहिए। यात्रा को संबोधित करते हुए ठाकुर परमवीर पम्मा ने कहा कि शहीदों की कुर्बानियों से प्राप्त हुई आज़ादी को संभाल कर रखना हमारी जिम्मेदारी है तथा भारतीय संविधान के अनुसार भारत के किसी भी कौने में राष्ट्रीय ध्वज फहराने की आजादी होनी चाहिए। अगर कोई ऐसा करने से रोकता है तो उसके खिलाफ बिना किसी दवाब एवं देरी के राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज किया जाना चाहिए। तिरंगा यात्रा का जगह-जगह पर स्वागत किया गया। यात्रा में मोंटी ठाकुर, दीपक शारदा, चिंटू हंस, अशोक राजपूत, संदीप भंडेर, कुलविंदर बब्बू, रणजीत राणा, सुखजीत सिंह परमार, दीपक गुलेरिया, सुखजीत कुमार, कुलवीर सिंह, कुलविंदर बिल्ला, विक्की निहंग, ऐरी पंडित, अरविंद ठाकुर, रोहित ठाकुर, दापक शर्मा, काका आदि सहित बड़ी संख्या में युवाओं एवं शहर निवासियों ने भाग लिया

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here