योग को धर्म से जोड़ने वालों के लिए पहली बार पीएम मोदी ने दिया बड़ा बयान

    0
    35

    चंडीगढ़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां मंगलवार को दूसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर हजारों लोगों को संबोधित करते हुए उनसे बेहतर शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग को अपनाने की अपील की। उन्होंने जोर देकर कहा कि ‘योग कोई धार्मिक गतिविधि नहीं’ है। इसके साथ ही देशभर में लाखों लोगों ने योग के साथ अपने दिन की शुरुआत की।

    अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

    अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस एक जन आंदोलन बन गया है
    मोदी ने चंडीगढ़ के कैपिटल कॉम्प्लेक्स में करीब 30,000 लोगों को योग करते देखा और उनके बीच भी गए। कैपिटल कॉम्प्लेक्स चंडीगढ़ के संस्थापक-वास्तुकार फ्रांसीसी ली कार्बुजियर के उत्कृष्ट निर्माणों में से एक है। मोदी ने अपने संक्षिप्त संबोधन में कहा, “जैसे अब मोबाइल फोन जिंदगी का एक अंग बन गए हैं, वैसे ही योग को भी अपनी जिंदगी का अंग बनाइए।” उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस एक जन आंदोलन बन गया है, जैसा दुनिया में कोई और नहीं है।

    संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने पिछले साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था। मोदी ने जोर देकर कहा कि योग कोई धार्मिक गतिविधि नहीं है। यह मन को काबू करता है और एक स्वस्थ शरीर को बरकरार रखता है। उन्होंने कहा कि योग ने लोगों की एक अनुशासित जिंदगी जीने में मदद की है। मोदी बाद में मंच से नीचे आए और योग के शौकीन विशेष रूप से सक्षम लोगों से हाथ मिलाया। कैपिटल कॉम्प्लेक्स में तड़के करीब चार बजे से लोगों का आना शुरू हो गया था।

    इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए 96,000 से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया था। इनमें से 30,000 से अधिक लोगों को चुना गया, जिनमें चंडीगढ़, पंजाब एवं हरियाणा तीनों जगहों से 10-10 हजार लोग आए थे। चंडीगढ़ के अति सुरक्षित इलाके सेक्टर-एक में स्थित आयोजन स्थल के इर्दगिर्द अभूतपूर्व सुरक्षा देखी गई। इलाके पर अर्धसैनिक कमांडो एवं सुरक्षा एजेंसियों की पैनी नजर रही। मुख्य कार्यक्रम के अलावा चंडीगढ़ में 100 अन्य कार्यक्रमों का भी आयोजन हुआ।

    वहीं, योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार सुबह हरियाणा के फरीदाबाद शहर में अपना रिकॉर्ड-तोड़ योग कार्यक्रम शुरू किया। आयोजकों ने कहा कि रामदेव के साथ 1,00,000 से अधिक लोगों ने योग किया, जिसने एक विश्व रिकॉर्ड स्थापित कर दिया। पिछले साल पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर मुख्य आयोजन दिल्ली स्थित राजपथ पर हुआ था।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here