‘मोदी सरकार के आते ही दलितों के खिलाफ बढ़ा अत्याचार’

    0
    13
    'मोदी सरकार के आते ही दलितों के खिलाफ बढ़ा अत्याचार'
     होशियारपुर : केंद्र में जब से मोदी सरकार आई है उसके बाद से देश भर में दलितों के खिलाफ अत्याचार का मामला बढ़ा है, यह बहुत ही शर्मनाक है। गुजरात के ऊना तहसील के गांव समढीयाणां में गौ हत्या के कथित आरोप में जिस तरह दलितों के ऊपर हमला किया गया है उससे अब साफ जाहिर है कि मोदी सरकार देश में दलितों के हितों की रक्षा करने में पूरी तरह असफल है। ऐसे समय में अब समय आ गया है कि पूरे देश का दलित समाज जागरूक हो अपने हकों के लिए खुलकर सामने आए।

    यह बात आज प्रैस क्लब में मीडिया को संबोधित करते हुए विभिन्न जत्थेबंदियों में शामिल दल खालसा के रणवीर सिंह व नोवलजीत सिंह, सिख यूथ आफ पंजाब के परमजीत सिंह टांडा व प्रभजोत सिंह, भगवान वाल्मीकि धर्म रक्षा समिति के सुरेन्द्रपाल सिंह पट्टी व विकास हंस, श्री गुरु रविदास टाइगर फोर्स पंजाब के परम मोहन लाल भटोआ व सोनू सिंगड़ीवाला, दलित युवा दल के अनिल बाघा, शिरोमणि श्री गुरु रविदास महाराज चैरीटेबल सभा के इंजीनियर सुरिन्द्र सिंह संधू, बेगमपुरा यूथ हैैल्पलाइन के परमजीत सिंह व श्री गुरु रविदास यूथ फैडरेशन के हरदीप बद्धन ने कही।

    प्रैस क्लब में संयुक्त तौर पर मीडिया को संबोधित करते हुए सभी वक्ताओं ने कहा कि गुजरात में 11 जुलाई को मृत जानवरों का चमड़ा उतारने वाले दलित युवाओं के साथ वहां के दबंगों और असामाजिक तत्वों ने अमानवीय व्यवहार करते हुए न सिर्फ उन्हें भरे बाजार में नंगा करके पीटा बल्कि गाडिय़ों में बांधकर घसीटा। उन्होंने कहा कि वियाना प्रकरण के दौरान दलितों पर हुए अत्याचार व पुलिस की तरफ से दर्ज झूठे केस को रद्द करने की मांग को लेकर वे लंबे अर्से से संघर्ष करते आ रहे हैं लेकिन सरकार हमारी मांग की कोई सुनवाई नहीं कर रही है। इसी तरह बॉलीवुड फिल्म ‘लीजेंड ऑफ माईकल मिश्रा’  में भगवान वाल्मीकि जी महाराज के विरुद्ध जिस तरह की शब्दावली का प्रयोग किया गया है उसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि जब तक फिल्म निर्माता, अभिनेता और लेखकों को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक उनका रोष जारी रहेगा। पूरे देश में फिल्म को प्रतिबंधित किया जाए। श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने वालों के लिए पंजाब सरकार ने उम्र कैद का कानून बनाया है। इसी तरह भगवान वाल्मीकि, सतगुरु रविदास, सतगुरु कबीर, बाबा साहिब डॉ. भीमराव अंबेदकर और दलित महापुरुषों के खिलाफ अपशब्द बोलने वालों के लिए भी उम्र कैद होनी चाहिए।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here