हिन्दू धार्मिक भावनाओं को भड़काने पर मुख्यमंत्री बादल पर कारवाई करने की मांग

    0
    23

    आज संयुक्त हिन्दू संगठनों के वक़फ ने मौजूदा डी.सी आन्नदिता  मित्रा को परशुराम सेना के ज़िलाध्यक्ष आशुतोष शर्मा की अध्यक्षता में मुख्यमन्त्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा हिन्दूओं की धार्मिक भावनाओं को भड़काने एवं उनसे खिलवाड़ करने के विरूद्ध धारा 295-ए, 153-ए के तहत पर्चा दर्ज कर बनती कानूनी कारवाई करने की मांग के सन्दर्भ में एक मांग पत्र सौंपा। उपस्थित बजरंग दल सेना पंजाब के मुकेश सूरी ने कहा कि पंजाब सरकार ने उस समय सारी हदें पार कर दीं जब मुख्यमन्त्री तीर्थ दर्शन यात्रा योजना के तहत मां चिन्तपूर्णी धाम के लिए चलाई बस में मां चिन्तपूर्णी की फोटो बस के ड्राईवर साईड के निचले भाग में लगाई जहां ड्राईवर पांव रखकर ड्राईवर सीट पर चढ़ता है और अन्य दो जगह भी वहां मां चिन्तपूर्णी का निरादर करते हुये वहां तस्वीर लगवाई जहां पर पीछे से बस के ऊपर समान रखने के लिए सीढ़ी बनाई गई है। उपस्थित हिन्दू संघ के नरेन्द्र परशा ने कहा कि जिसके तहत हिन्दूओं की धार्मिक आस्थाओं को तार-तार करते हुये पी.आर.टी.सी. की बस नम्बर पब 04ट2918 मां चिन्तपूर्णी धाम के लिए मुख्यमन्त्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा शान्ति, धार्मिक एवं सभ्याचार सद्भावना को उत्साहित करने के लिए मुख्यमन्त्री तीर्थ यात्रा योजना पंजाब के लिए तैयार की गई है। उपस्थित राष्ट्रीय हिन्दू शिव सेना के राजू खत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा आये दिन हिन्दूओं को निशाना बना हिन्दू देवी-देवताओं का अपमान बढ़ता जा रहा है वहीं हिन्दूओं की पार्टी कहलाने वाली भाजपा पंजाब में हिन्दूओं के मुद्दों पर मूक दर्शक बनी बैठी नज़र आती है। अगर अभी भी भाजपा सरकार ने मां छिन्नमस्तिका के अपमान पर चुप्पी न तोड़ी और अपनी प्रतिक्रिया स्पष्ट न की तो आने वाले दिनों में भाजपा सरकार को भी पंजाब में इसका खामियाज़ा पूर्णतः आने वाले चुनावों में भुगतना पड़ेगा। ज़िलाध्यक्ष आशुतोश शर्मा ने कहा कि बादल सरकार आये दिन पंजाब में हिन्दूओं को कुचलने के लिए नये नये हत्थकण्डे अपनाती है और पंजाब में हिन्दूओं के विरूद्ध दहशतगर्दी का माहौल बनाकर हिन्दूओं को डराने की कोशिश निरंतर करती आ रही है परन्तु बादल साहिब यह भूल जाते हैं कि आज भी पंजाब में बिना हिन्दू वोट के केाई सरकार नही बन सकती जिसका ख़ामियाज़ा अकाली दल के साथ साथ हिन्दूओं के मुद्दों पर मूक दर्शक बनी भाजपा को भी आने वाले चुनावों में भुगतना पड़ेगा। अगर अब भी हिन्दूओं की कहलाने वाली पार्टी भाजपा ने अकालियों का दामन न छोड़ा तो आने वाले चुनावों में परशुराम सेना समस्त संगठनों को साथ लेकर पूर्णतः पंजाब में अकाली एवं भाजपा के विरूद्ध हिन्दू विरोधी गतिविधियों को घर घर जाकर उजागर करेगी और पंजाब की जनता से अपील करेगी कि अगर पंजाब को बेअदबियों और नशों से बचाना है और पंजाब में अमन शान्ति लाना है तो अकालियों का सफाया जड़ से करना होगा। इस अवसर पर ब्राह्मण कल्याण परिषद के दीपक पराशर, अभिषेक ऐरी, रवि कुमार, लक्की गौरव, विक्की, जे.के.चड्ढा, पंकज बेदी, राकेश कुमार, आशु गुज्जर, हरीश कुमार एवं सुनील झा आदि उपस्थित थे।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here